देहरादून-डी.जी.पी से वरिष्ठ नागरिकों ने की मुलाकात,सौंपा ज्ञापन

 

 


  देहरादून /  वरिष्ठ नागरिकों के एक शिष्टमंडल ने प्रदेश के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार से मिलकर उन्हें अपनी समस्याओं के बारे में ऐ ज्ञापन दिया। डीजीपी को ज्ञापन सौंपते हुए वरिष्ठ नागरिकों के कल्याण के संबंध में संगठन की ओर से की जा रही गतिविधियों व भविष्य की योजनाओं से अवगत कराया।इस दौरान सुशीला बलूनी, डा. अतुल जोशी, केके ओबराय, कर्नल मन्हास व एसएएस नेगी ने बताया कि शहर में कई वरिष्ठ नागरिक ऐसे हैं, जिनके बच्चे बाहर रहते हैं। ऐसे में उनकी सुरक्षा का ध्यान रखा जाना बेहद जरूरी है। पुलिस महानिदेशक ने कहा कि जल्द ही डीआइजी नीलेश आनंद भरणे की देखरेख में पुलिस लाइन में बैठक का आयोजन किया जाएगा। इस बैठक में वरिष्ठ नागरिकों की सुरक्षा के लिए पुलिस की ओर से शुरू की गई योजनाओं पर चर्चा की जाएगी। पुलिस महानिदेशक ने बताया कि वरिष्ठ नागरिकों की सुरक्षा पुलिस का कर्तव्य है। सभी जिलों के प्रभारियों को निर्देशित किया गया है कि वह वरिष्ठ नागरिकों की लिस्ट तैयार कर उन्हें सुरक्षा प्रदान करें। यही नहीं, पुलिस वरिष्ठ नागरिकों के घर जाकर उनकी कुशलक्षेम भी पूछ रही है। जल्द ही एक ऐसी योजना बनाई जाएगी, जिससे वरिष्ठ नागरिक किसी भी तरह की समस्या होने पर तुरंत पुलिस की मदद ले सकेंगे।उत्तराखंड पेयजल पेंशनर्स अधिकारी कर्मचारी एसोसिएशन की बैठक में लंबित समस्याओं का समाधान न होने पर नाराजगी जताई गई। कहा कि मांग पूरी न होने पर जुलाई से आंदोलन को उग्र किया जाएगा। सोमवार को प्रदेश अध्यक्ष पीएस रावत की अध्यक्षता में वर्चुअल बैठक हुई। जिसमें पदाधिकारियों ने कहा कि लंबे समय से पेंशन व अन्य भुगतान, कोरोना संक्रमितों का मेडिकल भुगतान, आयुष्मान योजना का लाभ नहीं मिल रहा है। जबकि पहले कई बार इस संबंध में विभागीय मंत्री से मांग कर चुके हैं। इस मौके पर दिनेश भंडारी, आरपी त्यागी, मनमोहन नेगी, सतीश शर्मा, डीके चतुर्वेदी आदि मौजूद रहे।