सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

सरकार से बातचीत के लिए संयुक्त किसान मोर्चा ने बनाई 5 लोगों की कमेटी, टिकैत बोले- हम कहीं नहीं जा रहे

  कृषि कानूनों के निरस्त होने के बाद आज संयुक्त किसान मोर्चा के अहम बैठक हुई। इस बैठक में आंदोलन संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई। इसके साथ ही 5 लोगों की कमेटी बनाई गई है जो सरकार से एमएसपी और किसानों से केस वापसी जैसे मुद्दों पर बातचीत करेगी। अब संयुक्त किसान मोर्चा की अगली बैठक 7 दिसंबर को होगी। बैठक के बाद राकेश टिकैत ने बताया कि 5 लोगों की कमेटी बनाई है। यह कमेटी सरकार से सभी मामलों पर बातचीत करेगी। अगली मीटिंग संयुक्त किसान मोर्चा की यहीं पर 7 तारीख को 11-12 बजे होगी। इस 5 लोगों की कमेटी में युद्धवीर सिंह, शिवकुमार कक्का, बलबीर राजेवाल, अशोक धवाले और गुरनाम सिंह चढुनी के नाम पर सहमति बनी है। बताया जा रहा है कि यह संयुक्त किसान मोर्चा की यह हेड कमेटी होगी जो किसानों से जुड़े मुद्दे पर महत्वपूर्ण फैसले लेगी। हालांकि बताया यह भी जा रहा है कि अब तक सरकार की ओर से आधिकारिक तौर पर बातचीत के लिए किसानों को नहीं बुलाया गया है। लेकिन जब भी सरकार की ओर से किसानों को बातचीत के लिए बुलाया जाएगा, यह 5 लोग ही जाएंगे। राकेश टिकैत की ओर से फिर दोहराया गया कि आंदोलन फिलहाल खत्म नहीं होगा। उन

बंगालः टी.एम.सी में बड़ा उलटफेर ममता बनर्जी ने भतीजे अभिषेक बनर्जी को बनाया महासचिव

ममता बनर्जी ने अपने भतीजे अभिषेक बनर्जी को तृणमूल कांग्रेस का राष्ट्रीय महासचिव बनाया है। विधानसभा चुनाव के बाद हुई पहली वर्किंग कमेटी में ममता ने ये बड़ा फैसला लेते हुए अभिषेक बनर्जी को राष्ट्रीय स्तर पर बड़ी जिम्मेदारी दी है। इसके साथ ही टीएमसी ने अपनी पार्टी में कई बदलाव किए हैं। अभिनेत्री सायोनी घोष को बंगाल यूथ कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया है। बता दें कि इससे पहले अभिषेक बनर्जी टीएमसी के यूथ विंग के अध्यक्ष थे। लेकिन जिस तरीके से इस बार के विधानसभा चुनाव में सीधे ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक ने कमान संभाली थी और फ्रंट फुट पर नजर आए थे। अब टीएमसी में उनका प्रमोशन कर दिया गया है। अभिषेक बनर्जी डायमंड हार्बर से सांसद हैं। अभिषेक ममता बनर्जी के बड़े भाई अजित के बेटे हैं। वह बचपन से ही ममता के पास रहे हैं। अभिषेक पिछले 10 सालों से ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस की यूथ विंग के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर रहे।

टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव