सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

देहरादून: नाबालिग के साथ बाल वनिता आश्रम में दुष्कर्म, तबीयत खराब होने पर चला पता

    देहरादून /    राजधानी देहरादून के तिलक रोड स्थित बाल वनिता आश्रम में एक नाबालिग से दुष्कर्म का मामला सामने आया है। दुष्कर्म का आरोपित भी आश्रम में ही रहता है। शहर कोतवाली पुलिस ने आश्रम के प्रधान की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। आश्रम में निराश्रित और हर तरफ से ठुकराए बच्चे रहते हैं। इस समय आश्रम में करीब 50 बालक और बालिकाएं रह रही हैं। आश्रम में बालक और बालिकाओं के अलग-अलग हास्टल हैं, लेकिन खाना दोनों का एक साथ ही होता। बताया जा रहा है कि इसी दौरान बालक और बालिका के बीच नजदीकियां बढ़ गई और बालक ने बालिका के साथ दुष्कर्म किया। कुछ दिन पहले ही बालिका की तबीयत खराब हुई थी तो उसने इसकी शिकायत होस्टल वार्डन से की।बालिका से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि आश्रम में रहने वाले एक बालक ने उसके साथ दुष्कर्म किया। बालिका का मेडिकल करवाया जा रहा है। बालिका के गर्भवती होने की आशंका जताई जा रही है। हालांकि, इसकी पुष्टि मेडिकल रिपोर्ट आने की बाद ही हो सकेगी। Sources:JNN

आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर मुकेश शर्मा डब्‍लूएचओ के सलाहकार बने

 



कानपुर /  भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) कानपुर के सिविल इंजीनियरिंग विभाग से जुड़े प्रोफेसर मुकेश शर्मा को विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के वैश्विक वायु प्रदूषण और स्वास्थ्य तकनीकी सलाहकार समूह का मानद सदस्य नियुक्त किया गया है। आईआईटी कानपुर ने शुक्रवार कोएक बयान में यह जानकारी दी। बयान के अनुसार तकनीकी सलाहकार समूह के सदस्यों को दुनिया भर से चुना जाता है और महानिदेशक, डब्ल्यूएचओ द्वारा उसकी नियुक्ति की जाती है। येवायु प्रदूषण और स्वास्थ्य संबंधी मामलों को लेकर लक्ष्य को प्राप्त करने में अपना योगदान देते हैं।विज्ञप्ति के अनुसार वायु गुणवत्ता विशेषज्ञ प्रोफेसर शर्मा ने नीतिगत जुड़ाव के साथ गहन अनुसंधान किया है। वह डब्ल्यूएचओ, जिनेवा, इंटरनेशनल काउंसिल फॉर क्लीन ट्रांसपोर्ट, क्लीन एयर एशिया यूनाइटेड नेशनल एनवायरनमेंटल प्रोग्राम, बैंकॉक और विश्व बैंक से जुड़े रहे हैं। शर्मा 194 सदस्य राष्ट्रों में वायु प्रदूषण नियंत्रण के लिए हस्तक्षेप / नीतियों पर डब्ल्यूएचओ सलाहकार समूह का हिस्सा होंगे। आईआईटी, कानपुर के निदेशक अभय करंदीकर ने शर्मा को बधाई दी है

 

Sources:Prabhashakshi samachar

 

 

 


टिप्पणियाँ

Popular Post