सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

सरकार से बातचीत के लिए संयुक्त किसान मोर्चा ने बनाई 5 लोगों की कमेटी, टिकैत बोले- हम कहीं नहीं जा रहे

  कृषि कानूनों के निरस्त होने के बाद आज संयुक्त किसान मोर्चा के अहम बैठक हुई। इस बैठक में आंदोलन संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई। इसके साथ ही 5 लोगों की कमेटी बनाई गई है जो सरकार से एमएसपी और किसानों से केस वापसी जैसे मुद्दों पर बातचीत करेगी। अब संयुक्त किसान मोर्चा की अगली बैठक 7 दिसंबर को होगी। बैठक के बाद राकेश टिकैत ने बताया कि 5 लोगों की कमेटी बनाई है। यह कमेटी सरकार से सभी मामलों पर बातचीत करेगी। अगली मीटिंग संयुक्त किसान मोर्चा की यहीं पर 7 तारीख को 11-12 बजे होगी। इस 5 लोगों की कमेटी में युद्धवीर सिंह, शिवकुमार कक्का, बलबीर राजेवाल, अशोक धवाले और गुरनाम सिंह चढुनी के नाम पर सहमति बनी है। बताया जा रहा है कि यह संयुक्त किसान मोर्चा की यह हेड कमेटी होगी जो किसानों से जुड़े मुद्दे पर महत्वपूर्ण फैसले लेगी। हालांकि बताया यह भी जा रहा है कि अब तक सरकार की ओर से आधिकारिक तौर पर बातचीत के लिए किसानों को नहीं बुलाया गया है। लेकिन जब भी सरकार की ओर से किसानों को बातचीत के लिए बुलाया जाएगा, यह 5 लोग ही जाएंगे। राकेश टिकैत की ओर से फिर दोहराया गया कि आंदोलन फिलहाल खत्म नहीं होगा। उन

झमाझम बारिश के बाद मुरादाबाद शहर में सड़कें धंसी, हुए गड़्ढे

 

 


 मुरादाबाद शहर मे शनिवार को हुई मानसून की पहली बारिश में सड़कें ध्वस्त हो गई। शहर के झब्बू का नाला क्षेत्र में सुबह हुई बारिश के कारण जहां तहां सडकों पर गड्ढे हो गए। हादसे को रोकने के लिए क्षेत्रीय लोगों को खुद ही पहल करनी पड़ी।शनिवार की बारिश से शहरी क्षेत्र पानी में डूब गए वहीं सीवर से खुदी सड़कों का भी बुरा हाल हो गया। बारिश से पुराने इलाके झब्बू का नाला के पास दो जगहों पर सड़कें धंस गई। किसरौल से झब्बू का नाला की आने वाले रास्ते पर सड़क धंसने से जगह पर गहरे गड्ढे हो गए जिससे हादसे का खतरा मंडरा गया। कांग्रेसी पार्षद जुनैद के घर के सामने गड्ढे देख लोगों ने बचाव की पहल की। गड्ढे के चारों ओर बेंच आदि लगा दी। हालांकि सफाई नायक मुरारीलाल शेषन की सूचना पर निगम के मुख्य अभियंता व वरिष्ठ नगर स्वास्थ्य अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। निगम अधिकारियों ने तत्काल मरम्मत के आदेश दिए हैं।

टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव