सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव.संग्राम 2022: भाजपा.और आप के बीच में छिड़ा स्टार वार,कांग्रेस कर रही इंतजार

      भाजपा व आप ने रणनीति के तहत स्टार वार का गेम शुरू किया है। दरअसल, आचार संहिता लागू होने पर वीवीआईपी की रैलियां कराने के लिए पूरा खर्चा प्रत्याशियों के खाते में शामिल होता है।  उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव से पहले स्टार वार शुरू हो चुका है। भाजपा और आम आदमी पार्टी अभी इसमें आगे चल रही है, जबकि कांग्रेस अभी इंतजार के मूड में है।   निर्वाचन आयोग की टीमों की इस पर पैनी नजर रहती हैं।  निर्धारित सीमा से ज्यादा खर्च होने की दशा में ऐसे प्रत्याशियों को आयोग के नोटिस झेलने पड़ते हैं और चुनाव के वक्त इनका जवाब देने में उनका समय अनावश्यक जाया होता है। भाजपा में सबसे ज्यादा डिमांड प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की है। वे दो माह के भीतर उत्तराखंड के दो दौरे कर चुके हैं। पहले वे सात अक्तूबर को ऋषिकेश एम्स में आक्सीजन प्लांट जनता को समर्पित करने आए और इसके बाद पांच नवंबर को केदारनाथ धाम के दर्शन को पहुंचे। अब मोदी चार दिसंबर को दून में चुनाव रैली संबोधित करने आ रहे हैं। उधर, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी इस बीच दो दौरे कर चुके हैं। अक्तूबर में कुमाऊं के कई हिस्सों में आपदा के बाद वे रेस्क्यू आपरेशन

मसूरी स्थित बी.पी.सी.एल के पैट्रोल पंप पर पालिकाध्यक्ष मसूरी के दावे निकले खोखले



मसूरी/ देहरादून/ भारत पेट्रोलियम कार्पोरेशन लिमिटेड, के पेट्रोल पम्प किंक्रेग मसूरी के सम्बन्ध में जिलाधिकारी देेहरादून के आदेश दिनाॅक 27.05.2021 के क्रम में दिनाॅक 02.06.2021 को अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद मसूरी,नायबतहसीलदारमसूरी,पालिकाअभियन्ता,मानचित्रकार,बी0पी0सी0एल0केेअधिकारी,शिकायतकर्ता श्री अजय गोयल एवं डीलर श्री सुनील गोयल की मौजूदगीमें किंक्रेग मसूरी स्थित बी0पी0सी0एल0 कें पेटोल पम्प का निरीक्षण एवं नाप जोखकिया तथा रिपार्ट तैयार की गयी,तथा आख्या को जिलाधिकारी महोदय देहरादून केयहाॅ दिनाॅक 07.06.2021 को प्रस्तुत किया गया। अधिशासी अधिकारी द्वारा बतायागया कि बी0पी0सी0एल0 को पूर्व में 1864 वर्ग फिट भूमि आवंटित की गयी थी जबकि आख्यानुसार वर्तमान में पट्रोल पम्प की माप 1696.83 वर्गफिट है एवं रोटरीक्लब मसूरी को पूर्व में 600 वर्ग फिट भूमि आवंटित की गयी थी जब कि वर्तमान मेंमौके पर सम्पत्ति की माप 420 वर्ग फिट निर्मित क्षेत्र दोनों प्रतिष्ठानों का अलग-अलग पाया गया तथा किसी भी प्रकार का अतिक्रमण मौके पर नही पाया। पूर्व मेंनगर पालिका परिषद मसूरी द्वारा 2019 में जो अतिक्रमण की सूची तैयार की गयीथी एवंअतिक्रमण अभियान चलाया गया था।उक्त स्थल का नाम अतिक्रमण सूची मेअंकित नही था। समस्त साक्ष्य एंव तथ्य माननीय जिलाधिकारी देहरादून के समक्ष07.06.2021 की समीक्षा में प्रस्तुत कियेे गयेे। इस सन्दर्भ में माननीय जिलाधिकारीदेहरादून कें कार्यालय से आदेश पारित होना बाकी है।


टिप्पणियाँ

Popular Post