सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

देहरादून: मिस फ्रेश फेस सब-टाइटल के लिए आकर्षक लुक में उतरीं मॉडल

  सिनमिट कम्युनिकेशंस की ओर से एस्ले-हॉल स्थित कमल ज्वेलर्स में मिस उत्तराखंड-2021 के फर्स्ट सब-टाइटल का आयोजन किया गया। इस मौके पर 27 मॉडल्स फ्रेश फेस की रेस में शामिल रहीं। हालांकि इसका अनाउंसमेंट ग्रैंड फिनाले वाले दिन ही किया जाएगा।मंगलवार को आयोजित मिस फ्रेश फेस सब-टाइटल को लेकर जजेज ने मॉडल्स को मार्क्स दिए। वहीं मॉडल्स भी फेस को बेहद आकर्षक बनाकर सामने आई। इस मौके पर देहरादून, उत्तरकाशी, पिथौरागढ़, रुद्रप्रयाग, टिहरी, पौड़ी, धारचूला आदि जगहों की प्रतिभागियों ने इसमें हिस्सा लिया। जजेस में मिस ब्यूटीफुल आइज-2019 प्रीति रावत, डायरेक्टर कमल ज्वेलर्स और मिस फैशन दिवा-2019 बबीता बिष्ट शामिल रहीं। इस मौके पर आयोजक दिलीप सिंधी ने बताया कि इन मॉडल्स के कॉन्फिडेन्स को बढ़ाने के लिए अब ग्रूमिंग क्लासेज शुरू हो गयी है। जिसमें ड्रेस, मेकअप से लेकर उनकी कम्युनिकेशन स्किल्स राउंड को निखारा जा रहा है।बताया कि आयोजन का ग्रैंड फिनाले दिसंबर में होगा। आयोजक राजीव मित्तल ने बताया कि पिछले साल कोरोना की वजह से आयोजन पर ब्रेक लग गया था। बताया कि अलग-अलग राउंड के बाद इसका ग्रैंड फिनाले होगा। इस मौके पर

यूपी चुनाव: कांग्रेस ने अपने 46 नेताओं को किया विधानसभा चुनाव में उतरने का इशारा

यूपी विधानसभा में सीटों के लिहाज से कांग्रेस अपने सबसे खराब दौर में जरूर है, पर इसमें सुधार के लिए उसने अभी से तैयारियां प्रारंभ कर दी हैं। पार्टी ने अपने करीब 46 नेताओं को विधानसभा क्षेत्र में उतरने का संकेत दे दिया है। उन्हें क्षेत्रों के नाम भी बता दिए गए हैं। साथ ही कहा गया है कि वे फील्ड में जाकर पूरी तैयारी से जुटें। 2017 के चुनाव में कांग्रेस के खाते में सिर्फ 7 सीटें आई थीं। इनमें से भी रायबरेली से चुने गए उसके दो विधायक बागी हो गए हैं। इस तरह से विधानसभा के अंदर पार्टी की आवाज उठाने वाले सिर्फ 5 सदस्य ही हैं। इस स्थिति को बदलने के लिए पार्टी लगातार जनता से जुड़े मुद्दों पर किसी न किसी रूप में लगातार संघर्ष कर रही है।अभी विधानसभा चुनाव की डुगडुगी बजने में करीब 6 माह का समय शेष है, लेकिन कांग्रेस ने अपने करीब 46 लोगों को चुनाव मैदान में उतरने के लिए कह दिया है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक, वाराणसी के पिंडरा विधानसभा क्षेत्र से अजय राय को तैयारी करने के लिए कहा गया है। इसी तरह से इलाहाबाद उत्तरी सीट से अनुग्रह नारायण सिंह को जोर-आजमाइश करने के लिए बोला गया है। महाराजगंज की फरेंदा सीट से वीरेंद्र चौधरी और शामली से पंकज मलिक को हरी झंडी दे दी गई है। मुजफ्फरनगर की पुरकाजी सीट से दीपक कुमार को सिग्नल मिला है। इन सीटों पर भी नेताओं को दी गई है जिम्मेदारी सहारनपुर, बिजनौर, मुजफ्फरनगर, चमरौआ व बिलासपुर (रामपुर) और फतेहपुर समेत काफी सीटों पर भी संबंधित नेताओं को इशारा कर दिया गया है। रायबरेली के बागी विधायक राकेश सिंह और अदिति सिंह के स्थान पर भी मजबूत उम्मीदवारों को तलाशा जा रहा है।वहीं, शेष पांचों विधायक अपनी-अपनी सीटों से पर पुन: भाग्य आजमाएंगे। पार्टी हाईकमान ने अपनी इस रणनीति को सार्वजनिक न करने का निर्देश दिया है। इसलिए कोई भी नेता इस संबंध में आधिकारिक बयान नहीं दे रहा है। Sources:AmarUjala

टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव

चित्र

त्रिपुरा हिंसा : सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्‍य सरकार को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने के दिए निर्देश