सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

मार्च से लगेगी 12 से 14 साल तक के बच्चों को वैक्सीन

जैसा की मालूम है कि देश में कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ टीकाकरण अभियान बहुत तेजी से चल रहा है। इसी कड़ी में 3 जनवरी से सरकार ने 15 से 18 साल के बच्चों के लिए टीकाकरण शुरू किया था। इसके अलावा 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के लिए बूस्टर डोज की भी शुरुआत हो चुकी है।]  इन सबके बीच बच्चों के वैक्सीनेशन को लेकर अच्छा समाचार आ रहा है। आपको बता दें देश में मार्च महीने से 12 से 14 साल तक के बच्चों का कोरोना वैक्सीनेशन लगना शुरू हो जाएगा। इस बात की जानकारी टीकाकरण पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह के प्रमुख एनके अरोड़ा ने दी। आपको बता दें कि देश में राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत अभी तक कोविड.19 रोधी टीकों की 157.20 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ मनसुख मांडविया ने ट्वीट कर बताया कि 3 जनवरी से अब तक 15.18 आयु वर्ग के 3.5 करोड़ से अधिक बच्चों को कोविड-19 वैक्सीन की पहली डोज़ लगा दी गई है।  वहीं देश में टीकाकरण अभियान का एक वर्ष पूरा होने के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इसने वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ाई को बेहद मजबूत बनाया और इसके चलते ही लो

दर्दनाक हादसा: शादी के पंडाल पर गिरा हाईटेंशन तार,चार की मौत,दूल्हे के पिता समेत तीन लोग झुलसे

सीतापुर / आंधी की वजह से शादी का पंडाल उखड़ गया और लोहे का पाइप हाईटेंशन लाइन के संपर्क में आ गया। हादसे से वर-वधु पक्ष में कोहराम मच गया। इस घटना में दूल्हा विकास पाल के चाचा मायाराम, फूफा राधे, मामा रामअौतार समेत कुल चार लोगों की मौत हो गई है। कन्या पक्ष से उसके परिवार के एक व्यक्ति रामचंद्र की करंट से मौत हुई है। घटना में झुलसे तीन अन्य लोगों का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है। इस तरह हाईटेंशन करंट की चपेट में आए कुल सात लोगों में छह की मौत हो गई है। यह दर्दनाक हादसा शुक्रवार देर रात थाना कमलापुर क्षेत्र में सीता रसोई के पास हनुमानपुर गांव में हुआ। यहां राजेंद्र पाल की बेटी की बारात बिसवां के मोचकलां गांव से आई थी। राम प्रताप पाल अपने बेटे विकास पाल की बारात लेकर समय से राजेंद्र पाल के दरवाजे पहुंच भी गए थे। द्वारचार की रस्में पूरी हो चुकी थी। इसी बीच मौसम खराब हुआ और तेज आंधी के बीच बूंदाबांदी शुरू हो गई। आंधी की वजह से शादी का पंडाल उखड़ गया और लोहे का पाइप ऊपर से गुजर रहे हाईटेंशन लाइन के संपर्क में आ गया, इससे पाइप में करंट उतर आया और उसकी चपेट में आकर चार लोगों की झुलसकर मौत हो गई जबकि तीन लोग गंभीर रूप से झुलस गए। घटना की सूचना पाकर रात में ही गांव पहुंचे कमलापुर थानाध्यक्ष संजय कुमार घायलों को इलाज के लिए कसमंडा सीएससी लाए थे, जहां प्राथमिक उपचार के बाद भी हालत गंभीर देख कर डॉक्टरों ने इन सभी को जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया था। वहीं, जिला अस्पताल में प्रारंभिक इलाज के दौरान ही इमरजेंसी में चार लोगों ने दम तोड़ दिया है। करंट से इनकी हुई मौत: बिसवां इलाके के मोचकला निवासी मायाराम, इसरीपुरवा निवासी राधे (52), मानपुर के गोवर्धनपुर निवासी रामऔतार (38), कमलापुर के हनुमानपुर निवासी रामचन्द्र (40) की मौत हो गई। इन मृतकों में दूल्हा के चाचा मायाराम, फूफा राधे और मामा राम अौतार हैं। दूल्हे का चाचा मायाराम क्षेत्र पंचायत सदस्य (बीडीसी) था। दूल्हे के पिता समेत तीन लोग झुलसे: दूल्हा विकास पाल के पिता रामप्रताप पाल और रिश्तेदार अटरिया के टिकौली निवासी अजय, लखनऊ के इटौंजा क्षेत्र के इंदौरा गांव के भगवती पाल गम्भीर रूप से झुलसे हैं। इनका जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है। जिला अस्पताल पहुंचे डीएम-एसपी ने पीड़ित परिवारों को बनाया ढाढस घटना की सूचना मिलते ही डीएम विशाल भारद्वाज, एसपी आरपी सिंह, शहर कोतवाल टीपी सिंह जिला अस्पताल पहुंचे। डीएम एसपी ने अस्पताल में भर्ती झुलसे लोगों का हालचाल जाना और सीएमएस डॉ. अनिल अग्रवाल को सभी का बेहतर इलाज करने के निर्देश दिए हैं। वहीं, इमरजेंसी के डॉक्टर ने बताया कि घायलों का इलाज हो रहा है। उनकी हालत फिलहाल स्थिर बनी हुई है। Sources:जेएनएन

टिप्पणियाँ

Popular Post