सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

मार्च से लगेगी 12 से 14 साल तक के बच्चों को वैक्सीन

जैसा की मालूम है कि देश में कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ टीकाकरण अभियान बहुत तेजी से चल रहा है। इसी कड़ी में 3 जनवरी से सरकार ने 15 से 18 साल के बच्चों के लिए टीकाकरण शुरू किया था। इसके अलावा 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के लिए बूस्टर डोज की भी शुरुआत हो चुकी है।]  इन सबके बीच बच्चों के वैक्सीनेशन को लेकर अच्छा समाचार आ रहा है। आपको बता दें देश में मार्च महीने से 12 से 14 साल तक के बच्चों का कोरोना वैक्सीनेशन लगना शुरू हो जाएगा। इस बात की जानकारी टीकाकरण पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह के प्रमुख एनके अरोड़ा ने दी। आपको बता दें कि देश में राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत अभी तक कोविड.19 रोधी टीकों की 157.20 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ मनसुख मांडविया ने ट्वीट कर बताया कि 3 जनवरी से अब तक 15.18 आयु वर्ग के 3.5 करोड़ से अधिक बच्चों को कोविड-19 वैक्सीन की पहली डोज़ लगा दी गई है।  वहीं देश में टीकाकरण अभियान का एक वर्ष पूरा होने के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इसने वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ाई को बेहद मजबूत बनाया और इसके चलते ही लो

निःस्वार्थ सेवा भाव से किया गया कार्य सबसे बड़ा धर्म-सारिका प्रधान

 

 


देहरादून/ पिछले एक वर्ष से हमारा देश कोरोना रूपी महामारी से लड़ रहा है। जाहिर से बात है कि इस दौरान देश की जनता को इस खतरनाक महामारी से बचाने के लिए लाकडाउन लगा दिया था। इस लाकडाउन की अवधि में एक बहुत बड़ा वर्ग वो था जिसका परिवार रोज कमाकर लाने से अपना परिवार चलाता था,नतीजा ये हुआ कि उनके सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया था। उस वक्त भी सुश्री सारिका प्रधान जी ने  ने आगे आकर ऐसे प्रभावित लोगों की मदद करी थी। अब फिर देश में इस खतरनाक महामारी की दूसरी लहर ने कहर बरपा दिया है जिसकी चपेट में लाखों लोग अपनी जान गंवा चुके हैं,जो कामकाज पटरी पर आया था वो फिर पटरी से उतर गया। अब फिर सरकार ने मिनी लाकउाउन लगा दिया ऐसे में फिर वही हालात कमजोर व दैनिक वेतन भोगियों के सामने आ गये हैं।आय के साधन बंद हो जाने से उनके सामने दो वक्त की रोटी का संकट गहरा गया ऐसे में इन्डियन आईडल मासिक पत्रिका की संरक्षिका,पूर्व राज्यमंत्री व अखिल भारतीय गोरखा मोर्चा की प्रदेश अध्यक्षा सुश्री सारिका प्रधान ने एक बार फिर ऐसे प्रभावित परिवारों की मदद के लिए आगे आते हुए अपना मिशन ’साथी हाथ बढ़ाना’ शुरू करा है। जिसमें उनके द्वारा प्रभावित परिवारों को खाद्यान किट जिसमें आटा,दाल,चावल,मसाले,रिफाईन्ड,चीनी,नमक के साथ मास्क व सैनिटाइजर दिये गये। 

 


अपने इस मिशन के अन्र्तगत तीसरे दिन 120 परिवारों को अब तक खाद्यान किट बांट चुकी हैं। मिशन ‘साथाी हाथ बढ़ाना’ में उनके साथ इन्डियन आईडल पत्रिका के के प्रधान संपादक व समाज सेवी श्री अनिल कक्कड़,उपसंपादक सलीम रज़ा व देवभूमि समाचार पत्र के राजशेखर भट्ट का अभूतपूर्व सहयोग मिल रहा है। उनके द्वारा इस मिशन में हैल्पलाईन नम्बर 9719150181, 9411193733, 7895535922, 8859969483 जारी किये गये हैं। ऐसे परिवार जो प्रभावित हैं निम्न नम्बरों पर संपर्क कर सकते हैं। सुश्री सारिका प्रधान ने बताया कि हमारे इस मिशन ‘साथी हाथ बढ़ाना’ में लोग बढ़ चढ़कर अपना योगदान दे रहे हैं। अब तक योगदान देने वालों में दून इन्टरनेशनल स्कूल के चेयरमैन श्री डी.एस.मान, मसूरी व्यवसायी श्री संजय गोयल, कोआर्डिनेटर फूड इन्डस्ट्री एसोसियेशन उत्तराखण्ड के श्री अनिल मारवाह व ओलम्पस हाईस्कूल के चेयरमैन श्री कुणाल मल्ला जी,फन एण्ड फूड किंग्डम प्रेमनगर देहरादून के चेयरमैन श्री अजय सरीन द्वारा 250 सैनिटाईजर उपलब्ध कराकर अपना सहयोग प्रदान किया गया है।

साभार: सलीम रज़ा

टिप्पणियाँ

Popular Post