कोरोना पर लगाम लगाने को सख्ती,अनावश्यक घूमने वालों की होगी कोविड जांच

  


 

 

डीएम डॉ. आशीष श्रीवास्तव ने गुरुवार को सीएमओ, सभी एसडीएम एवं नोडल अफसरों की वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बैठक ली। उन्होंने कोविड कफ्र्यू के दौरान बेवजह घूमने वालों की कोरोना जांच के निर्देश दिए। उन्होंने बच्चों के इलाज की बेहतर सुविधाओं के लिए चिकित्सा अधीक्षक एवं एमओआईसी से उपकरणों की डिमांड को तत्काल बताने के लिए कहा। वहीं सीएमओ को चकराता, त्यूणी, कालसी एवं एसपीएस चिकित्सालयों में कार्ययोजना बनाकर देने के लिए निर्देशित किया, ताकि यहां सुविधाएं बढ़ाई जा सके। स्पोट्र्स कॉलेज रायपुर में उपकरण व अन्य सामग्री रखने को वेयरहाउस बनाने के के निर्देश दिए। उन्होंने सीएमओ को सैंपल टीमों का गठन कर पुलिस से समन्वय बनाकर कोविड कफ्र्यू के दौरान सार्वजनिक स्थानों, सड़कों, बाजारों में अनावश्यक घूम रहे व्यक्तियों की सैंपलिंग करने के निर्देशित दिए। 

मेडिकल स्टोरों पर कार्रवाई को कहा  
डोईवाला, रायपुर, ऋषिकेश में कम सैंपलिंग होने पर नाराजगी जताई। कहा, ग्रामीण इलाकों में सैंपलिंग बढ़ाई जाए। मेडिकल स्टोरों से बिना डॉक्टरी परामर्श के दवाई खरीदने वालों का विवरण नहीं देने पर भी नाराजगी जताई। सूचना न देने वाले मेडिकल स्टोरों पर कार्रवाई के लिए निर्देशित किया। 

जिले में एक दिन में 2491 को लगा टीका 
देहरादून। टीके की किल्लत की वजह से दून में टीकाकरण का ग्राफ लगातार गिर रहा है। गुरुवार को महज 2491 लोगों को ही टीका लग सका। जिनमें 2090 वो युवा है, जो 18 से 44 साल की उम्र के है। इसके अलावा केवल 357 लोगों ने 45 साल से ऊपर वालों ने टीका लगवाया। सीएमओ डा. अनूप डिमरी का कहना है कि अब तक 23 हजार से ज्यादा युवाओं को टीका लगाया जा चुका है। जैसे जैसे वैक्सीन मिलेगी। टीकाकरण को केंद्र बढ़ाए जाएंगे। 

ऑनसाइट टीकाकरण की भी व्यवस्था हो 
18 से 44 साल तक के लोगों के टीकाकरण के लिए ऑनलाइन स्लॉट बुकिंग की उच्चस्तरीय जांच को लेकर सीएम से मांग की गई है। पर्वतीय कल्याण समिति के वीवीरू बिष्ट ने कहा कि पांच किमी के दायरे के लोगों को ही स्लॉट दिया जाए या फिर ऑनसाइट टीकाकरण की व्यवस्था की जाए। वहीं डीएवी पीजी कॉलेज में गुरुवार को टीकाकरण केंद्र शुरू हो गया। यहां 150 का स्लॉट बनाया गया है। पहले दिन 138 लोगों ने पहुंचकर यहां टीकाकरण कराया।