सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

मार्च से लगेगी 12 से 14 साल तक के बच्चों को वैक्सीन

जैसा की मालूम है कि देश में कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ टीकाकरण अभियान बहुत तेजी से चल रहा है। इसी कड़ी में 3 जनवरी से सरकार ने 15 से 18 साल के बच्चों के लिए टीकाकरण शुरू किया था। इसके अलावा 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के लिए बूस्टर डोज की भी शुरुआत हो चुकी है।]  इन सबके बीच बच्चों के वैक्सीनेशन को लेकर अच्छा समाचार आ रहा है। आपको बता दें देश में मार्च महीने से 12 से 14 साल तक के बच्चों का कोरोना वैक्सीनेशन लगना शुरू हो जाएगा। इस बात की जानकारी टीकाकरण पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह के प्रमुख एनके अरोड़ा ने दी। आपको बता दें कि देश में राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत अभी तक कोविड.19 रोधी टीकों की 157.20 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ मनसुख मांडविया ने ट्वीट कर बताया कि 3 जनवरी से अब तक 15.18 आयु वर्ग के 3.5 करोड़ से अधिक बच्चों को कोविड-19 वैक्सीन की पहली डोज़ लगा दी गई है।  वहीं देश में टीकाकरण अभियान का एक वर्ष पूरा होने के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इसने वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ाई को बेहद मजबूत बनाया और इसके चलते ही लो

11 दिनों के खूनी संघर्ष के खत्म होने के बाद इजराइल और मिस्र के बीच हुई उच्चस्तरीय वार्ता

काहिरा / इजराइल और चरमपंथी समूह हमास के बीच 11 दिनों तक चली लड़ाई के बाद हुए संघर्ष विराम को मजबूती देने और गाजा पट्टी के पुनर्निर्माण के लिये रविवार को मिस्र और इजराइल में उच्चस्तरीय वार्ताएं हुईं। इस लड़ाई में 250 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी, जिनमें अधिकतर फलस्तीनी नागरिक थे। मिस्र के विदेश मंत्री समी शकरी ने रविवार को काहिरा पहुंचे इजराइली समकक्ष गाबी अश्केनाजी के साथ बैठक की। बीते एक दशक में इजराइली विदेश मंत्री की काहिरा की यह पहली सार्वजनिक यात्रा है। मिस्र के विदेश मंत्रालय ने यह जानकारी दी। काहिरा में स्थित इजराइल दूतावास ने ट्वीट किया कि 2008 के बाद इजराइल के किसी शीर्ष राजनयिक के तौर पर अश्केनाजी की यह पहली यात्रा है। दूतावास ने लिखा कि दोनों मंत्रियों ने संघर्ष विराम और हमास द्वारा पकड़े गए इजराइली सैनिकों व नागरिकों को रिहा किये जाने के मुद्दों पर चर्चा की। अश्केनाजी ने काहिरा पहुंचने के बाद ट्वीट किया, हम हमास के साथ स्थायी संघर्ष विराम तथा गाजा को मानवीय मदद पहुंचाने और उसके पुनर्निर्माण के लिये तंत्र तैयार करने पर चर्चा करेंगे, जिसमें अंतरराष्ट्रीय समुदाय की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। हमास ने 2014 में हुए युद्ध में मारे गए दो इजराइली सैनिकों के अवशेष नहीं लौटाए हैं और गाजा में दाखिल होने के बाद पकड़े गए दो इजराइली नागरिकों को अभी रिहा नहीं किया है। इस बीच, इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने संघर्ष विराम के प्रयासों के तहत यरूशलम में मिस्र के खुफिया प्रमुख अब्बास कामिल से मुलाकात की। नेतन्याहू ने कहा कि मुलाकात के दौरान उन्होंने सैनिकों के अवशेष और दो नागरिकों को लौटाने और हमास को मजबूत होने से रोकने या आम नागरिकों को दी जाने वाली मदद को हमास द्वारा हासिल करने से रोकने का मुद्दा उठाया। मिस्र के एक अधिकारी ने कहा कि कामिल वेस्ट बैंक में फलस्तीनी अधिकारियों से भी मुलाकात करेंगे। इसके बाद वह हमास के नेताओं से बात करने के लिये गाजा जाएंगे। अधिकारी ने कहा कि कामिल फलस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास को मिस्र के राष्ट्रपति का संदेश पहुंचाएंगे कि मिस्र फलस्तीनीलोगों का पूरा समर्थन करता है। Sources: Agency News

टिप्पणियाँ

Popular Post