सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

पूर्व मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद सिंह रावत नहीं लड़ेंगे चुनाव

 देहरादून : बहुत बड़ी खबर निकल कर सामने आ रही है कि उत्‍तराखंड के पूर्व मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत इस बार विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। जानकारी के मुताबिक उन्‍होंने भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा को पत्र लिखकर यह इच्‍छा जाहिर की है। उन्‍होंने कहा कि धामी के नेतृत्‍व में भाजपा की सरकार बनाने के लिए काम करना चाहता हूं।  जेपी नडडा को लिखे पत्र में उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री के रूप में कार्य करने का अवसर देने के लिए आभार भी व्‍य‍क्‍त किया है। साथ ही ये भी कहा है कि प्रदेश में युवा नेतृत्‍व वाली सरकार अच्‍छा काम कर रही है। उन्‍होंने कहा, बदली हुई राजनीतिक परिस्थितियों में मुझे चुनाव नहीं लड़ना चाहिए। इसलिए मेरा अनुरोध स्‍वीकार कर लिया जाए। आपको बता दें कि त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पत्र में लिखा कि मान्‍यवार पार्टी ने मुझे देवभूमि उत्‍तराखंड के मुख्‍यमंत्री के रूप में सेवा करने का अवसर दिया यह मेरा परम सौभाग्‍य था। मैंने भी कोशिश की कि पवित्रता के साथ राज्‍य वासियों की एकभाव से सेवा करुं व पार्टी के संतुलित विकास की अवधारणा को पुष्‍ट करूं। प्रधानमंत्री जी का भरपूर सहयोग व आशीर्वाद मु

मेरठ- सरधना के अलीपुर गांव में 10 दिनों में बीस लोगों की मौत से मचा हड़कंप

 


उत्तर प्रदेश में मेरठ के अलीपुर गांव में पिछले 10 दिनों में 20 लोगों की मौत होने से हड़कंप मचा हुआ है। ग्रामीण दहशत में हैं और स्वास्थ्य विभाग भी परेशान है। 30 से अधिक कोरोना के एक्टिव केस गांव में हैं। कई लोगों की कोरोना से मरने की भी चर्चा है। गांव में कैंप लगाकर स्वास्थ्य विभाग ने जांच की तो एक ही दिन में 18 लोग कोरोना संक्रमित मिले। 14 लोग ग्राम प्रधान के परिवार के बताए गए हैं। फिलहाल, स्वास्थ्य विभाग यहां बड़ा कैंप लगाकर लोगों को उपचार देने की तैयारी कर रहा है।सरधना से पांच किलोमीटर दूर स्थित अलीपुर गांव की आबादी आठ हजार के करीब है। मिश्रीत आबादी वाले इस गांव में पिछले एक माह से कोरोना का कहर जारी है। 30 से अधिक कोरोना के एक्टिव केस गांव में हैं। कुछ होम आइसोलेशन में हैं तो कुछ का अस्पताल में उपचार चल रहा है। कई लोग कोरोना को हरा भी चुके हैं।स्वास्थ्य विभाग के आंकड़े के अनुसार कोरोना से केवल एक व्यक्ति की मौत हुई है जबकि ग्रामीणों की बात माने तो कोरोना गांव के कई लोगों की जिंदगी लील गया। वर्तमान स्थिति की बात करें तो यहां पिछले 10 दिनों में 20 लोगों की मौत हुई है। ज्यादातर लोग बुखार से पीड़ित थे जबकि कुछ लोग सामान्य बीमारी से भी मरे हैं। आलम यह है कि लोग अपने घरों से भी नहीं निकल रहे हैं। गलियों और सड़कों पर दिनभर सन्नाटा पसरा रहता है। ग्रामीण बीमारी से बचने के लिए अपने घरों में ही रहना पसंद कर रहे हैं। जरूरी कार्य होने पर पूरी एहतियात के साथ निकलते हैं।

एक दिन में 18 पॉजिटिव मिले
अलीपुर गांव में दो दिन पूर्व स्वास्थ्य विभाग की टीम ने कैंप लगाकर कोरोना की जांच की थी जिसमें ज्यादातर लोग कोरोना पॉजिटिव के संपर्क वाले थे। आरटीपीसीआर के सैंपल भी हुए थे जिसमें 18 लोगों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

 

Sources:Agency News

टिप्पणियाँ

Popular Post