उत्तराखंड में कोरोना: एफआरआई में कई ट्रेनी अफसर मिले संक्रमित, आम लोगों का प्रवेश हुआ बंद

 

 देहरादून /  देहरादून स्थित वन अनुसंधान संस्थान (एफआरआई) में कई ट्रेनी अफसर कोरोना संक्रमित मिले हैं। जिसके बाद अब एफआरआई को आम लोगों के लिए बंद कर दिया गया। बता दें कि पिछले साल इंदिरा गांधी नेशनल फॉरेस्ट अकेडमी के ट्रेनी आईएफएस अधिकारियों में सबसे पहले कोरोना संक्रमण पाया गया था ।अब वन अनुसंधान संस्थान परिसर मॉर्निंग वॉकर्स और पर्यटकों के लिए अगले आदेश तक के लिए बंद कर दिया गया है। उत्तराखंड समेत देश के तमाम राज्यों में कोरोना के खतरे के मद्देनजर कदम उठाया गया है। संस्थान परिसर स्थित म्यूजियम समेत पर्यटकों के लिए सभी चीजों को बंद किया गया है। संस्थान निदेशक ने कहा, कोरोना को लेकर स्थितियां सामान्य होने के बाद ही अगला कदम उठाया जाएगा। इसके अलावा उत्तराखंड समय देश के तमाम राज्यों में कोरोना संक्रमण बढ़ने के साथ ही इंदिरा गांधी नेशनल फॉरेस्ट अकेडमी एहतियाती कदम उठाएं हैं। ट्रेनी आईएफएस अधिकारियों के लिए बबल सिस्टम लागू किया गया है। एक ग्रुप के अधिकारियों को दूसरे ग्रुप के अधिकारियों से मिलने पर सख्त मनाही है। गाइडलाइन का कड़ाई से पालन करने का निर्देश दिया गया है। 

प्रदेश में 1109 और संक्रमित पांच कोरोना मरीजों की मौत

प्रदेश में छह महीने के बाद एक दिन में नए कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा एक हजार पार पहुंच गया है। बुधवार को एक दिन में 10 जिलों में 1109 नए संक्रमित मिले हैं। जबकि पांच कोरोना मरीजों की मौत हुई है। संक्रमण के साथ ही मरीजों की मौतें रोकना सरकार के लिए चुनौती बन गया है। अब तक कुल संक्रमितों की संख्या 104711 हो गई है। वहीं, सक्रिय मरीज 4526 पहुंच गए हैं।स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक बुधवार को 31249 सैंपलों की जांच रिपोर्ट आई है। इनमें से 30140 सैंपल नेगेटिव पाए गए। जबकि 1109 लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। बीते 24 घंटे में देहरादून और हरिद्वार जिले में ही 817 संक्रमित मिले हैं।देहरादून जिले में 509, हरिद्वार में 308, नैनीताल में 113, ऊधमसिंह नगर में 84, पौड़ी में 57, टिहरी में 19, रुद्रप्रयाग में 10, चंपावत में पांच, अल्मोड़ा में तीन, चमोली में एक संक्रमित मिला है। बागेश्वर, उत्तरकाशी व पिथौरागढ़ जिले में कोई संक्रमित नहीं मिला है। 


Sources:Amarujala