सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

सरकार से बातचीत के लिए संयुक्त किसान मोर्चा ने बनाई 5 लोगों की कमेटी, टिकैत बोले- हम कहीं नहीं जा रहे

  कृषि कानूनों के निरस्त होने के बाद आज संयुक्त किसान मोर्चा के अहम बैठक हुई। इस बैठक में आंदोलन संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई। इसके साथ ही 5 लोगों की कमेटी बनाई गई है जो सरकार से एमएसपी और किसानों से केस वापसी जैसे मुद्दों पर बातचीत करेगी। अब संयुक्त किसान मोर्चा की अगली बैठक 7 दिसंबर को होगी। बैठक के बाद राकेश टिकैत ने बताया कि 5 लोगों की कमेटी बनाई है। यह कमेटी सरकार से सभी मामलों पर बातचीत करेगी। अगली मीटिंग संयुक्त किसान मोर्चा की यहीं पर 7 तारीख को 11-12 बजे होगी। इस 5 लोगों की कमेटी में युद्धवीर सिंह, शिवकुमार कक्का, बलबीर राजेवाल, अशोक धवाले और गुरनाम सिंह चढुनी के नाम पर सहमति बनी है। बताया जा रहा है कि यह संयुक्त किसान मोर्चा की यह हेड कमेटी होगी जो किसानों से जुड़े मुद्दे पर महत्वपूर्ण फैसले लेगी। हालांकि बताया यह भी जा रहा है कि अब तक सरकार की ओर से आधिकारिक तौर पर बातचीत के लिए किसानों को नहीं बुलाया गया है। लेकिन जब भी सरकार की ओर से किसानों को बातचीत के लिए बुलाया जाएगा, यह 5 लोग ही जाएंगे। राकेश टिकैत की ओर से फिर दोहराया गया कि आंदोलन फिलहाल खत्म नहीं होगा। उन

राजनाथ का ममता पर निशाना, कहा- अहंकार से नहीं बल्कि संविधान से चलती है सरकार

  


केंद्रीय रक्षा मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता राजनाथ सिंह आज पश्चिम बंगाल के दौरे पर हैं। पश्चिम बंगाल के स्वरूपनगर में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए राजनाथ सिंह ने ममता बनर्जी और उनकी सरकार पर जमकर निशाना साधा। न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक राजनाथ सिंह ने कहा कि TMCसमाज को बांटना और तोड़ना चाहती है। कौन जवाब देगा इसका? आपके द्वारा इसका मुंहतोड़ जवाब दिया जाना चाहिए। जय श्री राम के नारे से ममता बनर्जी नाराज हो जाती है। इससे नाराज होने की क्या ज़रूरत है?

राजनाथ सिंह ने आगे कहा कि मैं ममता दीदी से कहना चाहता हूं कि सरकार अहंकार से नहीं संविधान से चलती है। प्रधानमंत्री जो योजना लागू करते हैं ममता बनर्जी उसे यहां लागू नहीं होने देती। वे कहती हैं कि इसका श्रेय मोदी को चला जाएगा। आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल में चार चरण के चुनाव हो गए हैं जबकि 4 बचे हुए चरणों के लिए चुनाव प्रचार जोरों पर है। चुनाव आयोग ने तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर 24 घंटे के चुनाव प्रचार का प्रतिबंध लगाया है। वहीं भाजपा नेता राहुल सिन्हा को भी 48 घंटे के लिए चुनावी प्रचार से रोका गया है।

टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव