सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

अखिलेश यादव-राजभर की जोड़ी का ऐलान,बंगाल में खेला होबे के बाद अब यूपी में खदेड़ा होबे

      सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने अपनी पार्टी के 19वें स्थापना दिवस के अवसर पर सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को अपने मंच पर बुलाकर आगामी विधानसभा चुनाव में छोटे बड़े दलों के गठबंधन को मंच मुहैया कराने की कोशिश की है। ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि वह भावी सीएम को आपने सामने लेकर आए हैं।  उन्होंने कहा कि वह समाजवादी पार्टी के साथ मिलकर विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। अखिलेश यादव के साथ रैली में ओपी राजभर ने कहा कि बंगाल में 'खेला होबे' हुआ था तो यूपी में 'खदेड़ा होबे'। राजभर ने कहा कि 2022 में अखिलेश यादव मुख्यमंत्री बनेंगे। सरकार बनी तो घरेलू बिजली का बिल 5 साल तक माफ किया जाएगा। अखिलेश यादव ने कहा कि सपना दिखाया की चप्पल पहनने वाला हवाई जहाज में चलेगा, आज महंगाई के कारण चप्पल पहनने वाले व्यक्ति की मोटरसाइकिल भी चल नहीं पा रही है।  आज पेट्रोल की कीमत क्या है? क्या हालत कर दी जनता की। अखिलेश यादव जी ने कहा जब कोरोना जैसी महामारी आई तब सरकार ने बेसहारा छोड़ दिया सरकार ने मदद नहीं की। इससे पहले ओपी राजभर ने कहा कि यूपी के लोग बीजेपी क

प्रमुख वन संरक्षक ने कहा - मानवीय कारणों से लग रही जंगलों में आग, नियंत्रण को जल्‍द तैयार होगी बेहतर नीति

  


मंगलवार को उत्तराखंड के प्रमुख वन संरक्षक (PCCF) राजीव भरतरी नगर में पहुँचे। जहाँ उन्होंने वन विभाग के अधिकारियों, कर्मचारियो व वनाग्नि नियंत्रण को पहुँची एनडीआरएफ की टीम से जंंगल की आग नियंत्रण के सम्बंध में बात की। इस दौरान एनडीआरएफ के टीम के हेड मयंक कुमार ने बताया कि यहाँ आसपास के जंगलों में चीड़ की सूखी पत्तियों में आग तेजी से फैल रही है। जिसे काबू करना काफी मुश्किल कार्य है। इसलिए पत्तियों की लाइन काटकर आग को नियंत्रित किया जा रहा है। उनकी 21 सदस्यीय टीम ने 5 दिनों में 10 फायर के ऑपरेशन पूरे किए है।उधर, वन कर्मियों ने बताया कि वनाग्नि नियंत्रण में विभाग से मिला फायर ब्लोवर काफी कारगर साबित हो रहा है। इससे पत्तियां हटाने व आग बुझाने में आसानी हो रही है। उधर अपने संबोधन में कहा कि पिछले वर्ष लाकडाउन में वनाग्नि की घटनाएं नहीं हुई। लेकिन इस वर्ष जंंगल की आग ने विकराल रूप लिया। जंगलों में आग मानवीय कारणों से लग रही है। या तो लोगों की लापरवाही से आग लग रही है। या कोई जानबूझ कर आग लगा रहा है।  इसके लिए अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वह लोगों के बीच जाकर उनका वनाग्नि नियंत्रण में सहयोग ले। उन्हें जागरूक करें। यदि कोई आग लगाते हुए पकड़ा जाए तो उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही करें।

टिप्पणियाँ

Popular Post