महाकुंभ में कोरोना: पांच दिन में मिले 1899 संक्रमित, मेला प्रशासन ने भी कोविड नियमों का पालन कराने से खींचे हाथ

  


हरिद्वार/ कुंभ में कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका बढ़ गई है। सोमवती अमावस्या के शाही स्नान पर श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ने पर मेला पुलिस-प्रशासन ने भी कोविड के दिशा निर्देशों (एसओपी) के पालन कराए जाने से हाथ खींच लिए हैं। स्नान के लिए बाहरी राज्यों से श्रद्धालुओं का रैला उमड़ रहा है।दो गज की दूरी मास्क जरूरी’ के स्लोगन सरकारी होर्डिंग और मेला कंट्रोल रूम की उद्घोषणा तक सिमट गया है। श्रद्धालु बिना मास्क लगाए आवाजाही कर रहे हैं। घाटों और मेला क्षेत्र में एसओपी की धज्जियां उड़ रही हैं।सोमवार को शाही स्नान के दिन ही 563 नए मरीज मिले हैं। बीते पांच दिनों में नए पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 1899 पहुंच गई है। इनमें 1599 आरटीपीसीआर जांच में पॉजिटिव आए हैं। शाही स्नान पर लिए सैंपलों की रिपोर्ट मंगलवार को आएगी और संख्या और बढ़ने की आशंका है। एक से तीस अप्रैल तक महाकुंभ है। प्रतिदिन लाखों श्रद्धालुओं की भीड़ हरिद्वार पहुंच रही है।महाकुंभ की शान अखाड़ों के साधु-संत और नागा संन्यासी हैं। कोविड ने संतों को भी अपनी चपेट में लेना शुरू कर दिया है। बीते पांच दिनों में अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरि समेत 15 संत पॉजिटिव आ चुके हैं। इनमें छह संत सोमवार के शाही स्नान में पॉजिटिव मिले हैं।