मध्य प्रदेश में कोरोना का तांडव जारी, शिवराज सरकार ने इंदौर, उज्जैन समेत कई शहरों में बढ़ाया लॉकडाउन

  


 भोपाल /  मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बड़ा फैसला लिया है। बता दें कि शहरी क्षेत्रों में वीकेंड लॉकडाउन के बाद अब शिवराज सरकार ने कई शहरों में लॉकडाउन के दिन बढ़ाए हैं। मुख्यमंत्री चौहान ने शनिवार को मध्य प्रदेश के सभी जिला प्रशासन के जरिए डिस्ट्रिक्ट क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक की। इस बैठक में फैसला लिया गया कि बड़वानी, राजगढ़, विदिशा जिलों के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में 19 अप्रैल सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन लागू रहेगा। जबकि बालाघाट, नरसिंघपुर, सिवनी जिलों के सभी शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में और जबलपुर शहर में 12 अप्रैल की रात से 22 अप्रैल की सुबह तक लॉकडाउन रहेगा।

इन शहरों में भी बढ़ा लॉकडाउन 

प्राप्त जानकारी के मुताबिक इंदौर, राऊ, महू, शाजापुर और उज्जैन जिले के सभी शहरों में भी लॉकडाउन की समयसीमा को बढ़ाया गया है। यहां पर 19 अप्रैल की सुबह 6 बजे बजे सम्पूर्ण लॉकडाउन रहेगा।

लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामले

मध्य प्रदेश में शुक्रवार को कोरोना संक्रमण के सर्वाधिक 4,882 नए मामले सामने आए और इसके साथ ही संक्रमित पाए गए लोगों की कुल संख्या बढ़कर 3,27,220 तक पहुंच गई। राज्य में पिछले 24 घंटे में इस बीमारी से प्रदेश में 23 और व्यक्तियों की मौत हुई है। वहीं संक्रमण से मरने वालों की संख्या 4,136 हो गई है। मध्य प्रदेश स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि शुक्रवार को इंदौर में 887 नए मामले आए, जबकि भोपाल में 686 नए मामले आए हैं। 

एक लाख एक्टिव मामले होने की संभावना

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए मध्य प्रदेश में इस महीने के अंत तक कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या एक लाख तक पहुंच सकती है। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि जिस रफ्तार से कोरोना वायरस संक्रमण प्रदेश में बढ़ रहा है, उपचाराधीन मरीजों की संख्या इस महीने के अंत तक एक लाख तक पहुंच सकती है। हम इसे बीच में ही रोकने की कोशिश कर रहे हैं तथा लॉकडाउन सहित अन्य उपायों को अपनाना शुरु कर दिया है।