मसूरी में 10 होटल कर्मी समेत 19 व्‍यक्ति मिले कोरोना पॉजिटिव

  

 मसूरी /  मसूरी में शुक्रवार को 19 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। जिसमें 10 लोग बार्लोगंज के एक पांच सितारा होटल के कर्मचारी हैं। इन्हें होटल परिसर के एक हिस्से में ही माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाकर आइसोलेट किया गया है। होटल का एसडीएम मनीष कुमार ने निरीक्षण किया है और प्रबंधन को कोविड गाइडलाइन का पालन कराने  के निर्देश दिए। उपजिला चिकित्सालय के कोविड नोडल अधिकारी डॉ. प्रदीप राणा ने कहा कि नौ केस शहर के विभिन्न हिस्सों में मिले हैं, जिनमें एक लंढौर स्थित यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की शाखा का कर्मचारी है। बैंक को 24 घंटे के लिए बंद कर दिया गया है। साथ ही पूरे बैंक परिसर को सैनिटाइज किया गया है। भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआइआइ) ने बढ़ते कोरोना संक्रमण पर चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि कोरोना को हराने के लिए सभी आयुवर्ग का टीकाकरण होना चाहिए। उन्होंने उद्योगपतियों, उद्योगों में कार्यरत कर्मचारियों से कोरोना गाइडलाइन का पालन करने की अपील की है।सीआइआइ उत्तरी क्षेत्र के अध्यक्ष अभिमन्यु मुंजाल ने शुक्रवार को सीआइआइ उत्तराखंड राज्य परिषद की ओर से बयान जारी कर कहा कि  सीआइआइ ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए पांच सूत्री एजेंडा तैयार किया है। जिसके तहत किसी बैठक में 10 से अधिक जनों को शामिल होने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए। उद्योगों को घर से काम करने को प्रोत्साहित करना चाहिए। उद्योगों में कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना चाहिए। सभी सार्वजनिक परिवहन में सवारियों के बैठने की व्यवस्था एक तिहाई होनी चाहिए। टीकाकरण को सभी आयु वर्ग के लिए खोला जाना चाहिए और टीकाकरण केंद्रों पर अधिक समय तक स्टाफ उपलब्ध कराया जाना चाहिए।

उद्यमी लॉकडाउन के पक्ष में नहीं 

अभिमन्यु मुंजाल ने कहा कि सीआइआइ राज्य सरकारों के साथ मिलकर कार्य करता है। पूरी तरह से लॉकडाउन नहीं होना चाहिए, क्योंकि आर्थिक तरक्की के लिए उद्योगों का पहिया चलता रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि सीआइआइ टीकाकरण अभियान में सरकार की सहायता कर सकता है। सीआइआइ की कुछ सदस्य कंपनियों ने पहले ही अपने कर्मचारियों व उनके परिवारों के लिए चिकित्सा शिविरों का आयोजन किया है।