सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

उत्तरकाशी: केसर की खुश्बू से महकी हर्षिल घाटी, खिल उठे काश्तकारों के चेहरे

सीमांत जनपद की हर्षिल घाटी रसीले सेबों और राजमा के उत्पादन के लिए जानी जाती है। केसर की खेती के लिए घाटी का मौसम व मिट्टी मुफीद होने के चलते कृषि विज्ञान केंद्र ने वर्ष 2018-19 में पहले ट्रायल के तौर पर किसानों को केसर के बीज दिए थे। इसके सकारात्मक परिणाम सामने आए।  हर्षिल घाटी में केसर उत्पादन की योजना परवान चढ़ती नजर आ रही है। योजना के तहत घाटी के पांच गांवों के काश्तकारों को केसर के बीज निशुल्क उपलब्ध कराए गए थे। इनमें से अधिकांश बीज अंकुरित हो गए हैं और उनपर फूल खिल गए हैं। ये देख काश्तकारों के चेहरे खिल गए हैं।  इसे देखते हुए इस वर्ष जिला प्रशासन व उद्यान विभाग ने जिला योजना 2021-22 से घाटी के सुक्की, झाला, मुखबा, पुराली व जसपुर गांवों के करीब 38 किसानों को केसर के बीज दिए थे। किसानों ने क्यारियां तैयार कर इन्हें खेतों में बोया। एक से डेढ़ महीने में ही इन पर फूल खिलने शुरू हो गए हैं। इससे काश्तकार उत्साहित हैं।  सुक्की गांव के किसान मोहन सिंह राणा ने बताया कि उन्हें 6 किलो बीज मिले थे, जो उन्होंने 22 सितंबर को बोए थे। एक महीने में ही इन पर फूल आने शुरू हो गए हैं। 15 अक्तू

गोलियों की तड़तड़ाहट से सीतापुर में फैली सनसनी, पुलिस फोर्स तैनात

यूपी में सीतापुर का पिसावां क्षेत्र सोमवार सुबह गोलियों की तड़ताहत से गूंज उठा। क्षेत्र में सनसनी फैल गई। मामला छोटे से विवाद का था जिसमें दो पक्ष आपस में भिड़ गए। गाली गलौज के साथ मारपीट हुई। इसके बाद एक पक्ष ने कई राउण्ड फायरिंग की। कुल मामले में किसी को गंभीर चोट नहीं आई है। वारदात के बाद से मुख्य आरोपी फरार हो गया। सीओ मिश्रिख का कहना है कि दबंगई करने वालों की तलाश हो रही है।पिसावां थाना क्षेत्र के महम्मदापुर में सोमवार सुबह पुनीत यादव अपने खेत से घास काटकर घर जा रहा था। करीब दस बजे ग्रामीण गांव के करीब पहुंचा। बताते हैं कि इसी दौरान गांव के बाहर धान काटने वाली मशीन आ गई। इसके किनारे से होकर गुजरते पुनीत का मयंक दीक्षित से सामना हो गया। आरोप है कि मयंक ने गाली गलौज शुरू कर दी। इसी के बाद विरोध हुआ और झगड़ा होने लगा।आरोप प्रत्यारोप के बीच बवाल बढ़ता चला गया। पुनीत पक्ष की मानें तो घर पहुंचने पर विपक्षियों ने हमला कर दिया। ईंट पत्थर के साथ कई राउण्ड फायरिंग की गई। दहशत के बीच लोगों ने अपने अपने घरों को बंद कर लिया। सूचना मिलने पर पिसावां पुलिस के अलावा आसपास थानों की पुलिस आ पहुंची। भारी पुलिस बल देख आरोपी मौके से फरार हो गए। सीओ मिश्रिख एमपी सिंह का कहना है कि आरोपियों की तलाश हो रही है। गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। पुनीत पक्ष की ओर से मिले वीडियो के आधार पर आरोपियों की पहचान हो रही है। Sources:Hindustan Samachar

टिप्पणियाँ

Popular Post