16 फरवरी से अनिवार्य हो रहा FASTag

केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने साफ तौर पर कहा कि फास्टैग (FASTag) के कार्यान्वयन की समय सीमा को आगे नहीं बढ़ाया जायेगा। उन्होंने कहा कि वाहन मालिकों को तुरंत इस ई-भुगतान सुविधा को अपनाना चाहिये। फास्टैग टोल प्लाजाओं पर शुल्क के इलेक्ट्रॉनिक भुगतान की सुविधा प्रदान करता है। इसे 2016 में पेश किया गया था। टैग अनिवार्य बनाने से यह सुनिश्चित करने में भी मदद मिलेगी कि वाहनों को टोल प्लाजा के माध्यम से बिना रुके गुजरने की सुविधा दी जाये। इससे पहले केंद्र सरकार ने वाहनों के लिये अनिवार्य फास्टैग की समयसीमा एक जनवरी 2021 से बढ़ाकर 15 फरवरी 2021 कर दी थी। नितिन गडकरी के बयान से अब यह साफ हो गया है कि आज के बाद यानी कि 12 फरवरी की रात 12:00 बजे के बाद से सभी गाड़ियों के लिए फास्टैग अनिवार्य हो जाएगा। रात 12:00 बजे के बाद से किसी हाईवे पर टोल प्लाजा से गुजरने के लिए आपके पास फास्टैग होना चाहिए। अगर आपके पास फास्टैग नहीं होगा तो टोल प्लाजा से गुजरने के लिए आपको दोगुना भुगतान करना होगा। जाहिर सी बात है कि इससे आपके जेब पर असर पड़ेगा। इसी भुगतान से बचने के लिए आपको फास्टैग लगाना जरूरी है। ऐसे में आप फास्टैग अपनी गाड़ी पर तुरंत ही लगवा लें। अगर आपकी गाड़ी पर सफेद रंग का नंबर प्लेट है तो फिर हाईवे पर टोल प्लाजा से गुजरने के लिए फास्टैग और भी जरूरी है। फास्टैग की अनिवार्यता से दोपहिया वाहनों को दूर रखा गया है। हां, अगर आप एक्सप्रेस-वे पकड़ रहे हैं तो इसके लिए आपको टोल देना पड़ सकता है। पीली नंबर प्लेट जाने की कमर्शियल गाड़ियों के लिए भी हाईवे पर टोल प्लाजा से गुजरने के लिए फास्टैग चाहिए ही चाहिए। जैसे ही इस बात की खबर आई कि कल से फास्टैग अनिवार्य हो जाएगा वह लोग काफी चिंतित हो गए जिनकी गाड़ियों में अभी फास्टटैग नहीं है। तो हम आपको बताते हैं कि आखिर यह फास्टैग कितने रुपए की पड़ेगी और आप कहां से ले सकते हैं। नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने फास्टैग की कीमत ₹100 निर्धारित की है। ₹200 की सिक्योरिटी डिपॉजिट देनी पड़ती है। कैसे और कहां से बनवाएं फास्टैग फास्टैग बनाने के लिए आपको ड्राइविंग लाइसेंस और वाहन का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट की कॉपी अपने साथ रखना होगा। इसके अलावा बैंक केवाईसी के लिए यूजर का पैन कार्ड और आधार कार्ड की भी कॉपी मांगी जा सकती है। फास्टैग बनाने के लिए NHAI ने 40 हजार से ज्यादा केंद्र स्थापित किए है। इसके अलावा फ्लिपकार्ट, पेटीएम और अन्य डिजिटल वॉलेट कंपनियां भी इसकी बिक्री कर रही हैं। आप घर बैठे ही अपने वाहन के लिए विंडस्क्रीन फास्टैग मंगवा सकते है। इसे आप यूपीआई, क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड के जरिए जरूरत पड़ने पर रिचार्ज कर सकते है। अगर आपका फास्टैग बैंक खाते से लिंक होता है तो पैसा ऑटोमेटिक अपने खाते से ही कटता है। Sources:Agency News