रक्षा मंत्रालय की वार्षिक रिपोर्ट में गलवान झड़प का जिक्र, चीन ने किया नए तरह के हथियारों का इस्तेमाल



भारत और चीन के बीच पिछले वर्ष मई-जून के महीने में गलवान में हुई हिंसक झड़प के बाद से ही दोनों देशों में तनाव का माहौल है। तनाव कम करने को लेकर कई लेवल पर बातचीत का दौर भी चला, लेकिन कोई समाधान निकलता नहीं नजर आया। चीन अपनी  कथनी और करनी में अंतर होने वाली आदत से बाद भी नहीं आया। लेकिन अब भारतीय रक्षा मंत्रालय ने अपनी वार्षिक रिपोर्ट जारी की है। जिसमें कहा गया कि वास्तविक नियंत्रण रेखा पर एक से ज्यादा क्षेत्रों में यथास्थिति को बलपूर्वक बदलने की चीनी सेना की कार्रवाई का करारा जवाब दिया गया। 

रिपोर्ट में रक्षा मंत्रालय ने चीन की ओर से इस्तेमाल किए गए गैर-पारंपरिक हथियारों का जिक्र किया है। रिपोर्ट में कहा गया कि घाटी में क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा करना 2020 में सेना की वीरता का सबसे उज्जवल उदाहरण है। मंत्रालय ने अपने वार्षिक रिपोर्ट में पूर्वी लद्दाख में चीन की हरकतों को उजागर किया है। इसमें कहा गया कि भारतीय सेना ने वायुसेना की मदद से बहुत ही कम वक्त में अतिरिक्त सुरक्षा बलों को उन जगहों पर पहुंचा दिया जहां तीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी आक्रमक हो रही थी। 
Sources:Agency News