ऑटो संचालकों का फाइनेंस कंपनी के दफ्तर में हंगामा, लगाया ये आरोप


देहरादून। देहरादून में किश्त के साथ भारी भरकम पेनाल्टी लगाने पर ऑटो संचालकों ने गुरुवार को एक निजी फाइनेंस कंपनी के दफ्तर पर जमकर हंगामा किया। उन्होंने आरोप लगाया कि कंपनी के अधिकारी कोरोना काल के चलते ऑटो संचालकों के नुकसान की भी परवाह नहीं कर रहे हैं।ऑटो संचालकों ने फाइनेंस कंपनी की शिकायत मोहितनगर की पार्षद अमिता सिंह से की। इसके बाद पार्षद अमिता के साथ दर्जनों ऑटो संचालक जीएमएस रोड पर वाडिया संस्थान के सामने स्थित निजी फाइनेंस कंपनी के दफ्तर पहुंचे व जमकर हंगामा किया। आरोप है कि कंपनी द्वारा किश्तें न देने पर लगातार पेनाल्टी लगाई जा रही है। अगर ऑटो संचालक को नोटिस दिया जाता है तो उसके भी साढ़े सात सौ रुपये जबरन वसूले जा रहे। पेनाल्टी न देने पर एनओसी नहीं दी जा रही। आरोप है कि लोन खत्म होने के बावजूद गलत तरीके से पचास हजार रुपये से एक लाख रुपये तक पेनाल्टी ठोकी जा रही। ऑटो संचालकों ने बताया कि कंपनी ने शुरू में उन्हें सब्जबाग दिखाए और अब उनका उत्पीडऩ कर रही है। स्थिति ये है कि कंपनी पेनाल्टी माफ करने को राजी नहीं। पार्षद अमिता सिंह ने कंपनी के अधिकारियों से बात की। ऑटो संचालकों के घाटे का हवाला देते हुए इस दौरान पेनाल्टी माफ करने और किश्त की धनराशि आधी करने को कहा गया। पार्षद ने चेतावनी दी कि अगर कंपनी प्रबंधन की ओर से ऐसा नहीं किया गया तो वे कंपनी के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई तक जाएंगी। इस दौरान मुकेश कुमार शर्मा, रईस अहमद, यासीन, शहनवाज, अजय कुमार, विनोद तिवारी, रवीश, विनोद कुमार, इसरार और मुकीम आदि ऑटो संचालक मौजूद रहे। 


Sources:Agency News