देश में फिर आया अव्वल एएमयू का गणित विभाग,वल्र्ड रैंकिंग में मिली 175वीं रैंक

 

अलीगढ़ / अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) के गणित विभाग के लिए नव वर्ष तोहफा लेकर आया है। गणित विभाग को एक बार फिर सभी भारतीय विश्वविद्यालयों और संस्थानों में पहला स्थान दिया गया है। यूएस न्यूज की वल्र्ड रैंकिंग में एएमयू को ये मुकाम हासिल हुआ है। रैंकिंग में गणित विभाग को 175वीं रैंक हासिल हुई है। इस रैंकिंग में एएमयू को देश में चौथा स्थान मिला है।  गणित विभाग में एसोसिएट प्रोफेसर शाकिर अली ने बताया कि यूस न्यूज की वल्र्ड रैंकिंग कुछ दिन पहले ही जारी हुई है।

यूएस न्यूज और वर्ल्ड  रैंकिंग रिपोर्ट 

विभाग ने यूएस न्यूज और वर्ल्ड रिपोर्ट की रैंकिंग द्वारा पिछले पांच वर्षों से 150 -175 के बीच रैंक हासिल की है। यह विभाग के सभी संकाय सदस्यों और शोध कर्ताओं के प्रयासों के कारण ही संभव है। भारत के इस एकमात्र विभाग ने यूएस न्यूज और वर्ल्ड रैंकिंग के वेबपेज पर जगह बनाई है। यूनिवर्सिटी व विभाग के लिए यह गर्व की बात है। विभाग की सबसे बड़ी खूबी यहां शिक्षक व छात्र हैं। ये विभाग कभी बंद नहीं होता। रात में भी शोध छात्र पढ़ाई करते हैं। देर रात तक प्रोफेसर भी रहते हैं। विभाग में दस प्रोजेक्ट चल रहे हैं। जिनके तहत यहां के छात्र विदेशों में पढ़ने जाते हैं वहां से यहां आते हैँ। एएमयू से पढ़े छात्र की खास बात ये होती है वो गणित से जुड़े सभी विभागों में पारंगत होते हैं। उन्हें तैयार ही कुछ इस तरह किया जाता है। छात्रों को उनके रुचि के अनुसार बोलने की ट्रेनिंग दी जाती है। इसके बाद शोध के लिए विषय का चयन होता होता है।

गणित विभाग सबसे पुराने विभागों में से एक 

सबसे पुराने विभागों में एएमयू का गणित विभाग सबसे पुराने विभागों में से एक है। 8 जनवरी,1877 में मोहम्मडन एंग्लो ओरिएंटल कॉलेज की स्थापना के साथ से ही गणित को एक महत्वपूर्ण विषय के रूप में रखा गया था। 1910-11 तक, कॉलेज में गणित के तीन प्रो. जेसी चक्रवर्ती, डॉ. जियाउद्दीन अहमद और एमए अजीज को रखा गया। विभाग से जुड़े शुरुआती गणितज्ञों में से डॉ. ज़ियाउद्दीन अहमद थे, जिन्होंने प्रो. चक्रवर्ती के साथ मिलकर शिक्षकों और शोध छात्रों के पहले ग्रुप को तैयार किया।गणित विभाग का पुस्तकालय अपने आप में खास है। एएमयू का दावा है कि यह देश के किसी भी विश्वविद्यालय में सबसे मूल्यवान गणित पुस्तकालय है। इसे एशिया की सबसे बड़ी लाइब्रेरी माना जाता है। सेमिनार लाइब्रेरी में प्रख्यात गणितज्ञों के 50 मूल्यवान संग्रह भी हैं।

Sources:Agency News