वन मंत्री डा0 हरक सिंह ने प्रमुख सचिव को पी.सी.सी.एफ जय राज द्वारा किये गये सारे तबादले निरस्त करने के दियेआदेश











रिटायरमेंट से पहले शून्य सत्र के बावजूद पीसीसीएफ जयराज की ओर से किए गए सारे तबादले निरस्त होंगे। वन मंत्री डा. हरक सिंह ने प्रमुख सचिव आनंदवर्द्धन को सारे तबादले निरस्त करने के आदेश दिए हैं। उन्होंने तत्काल इस मामले में कार्रवाई की फाइल भी मंगवा ली है। साथ ही तबादलों की जांच को भी कह दिया है। 


आपके अपने अखबार ‘हिन्दुस्तान’ ने एक नवंबर के अंक में इस खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया गया था। पीसीसीएफ जयराज 31 अक्तूबर को रिटायर हुए। लेकिन उससे पहले उन्होंने अक्तूबर में बड़ी संख्या में फॉरेस्ट गार्ड से लेकर रेंजर तक के तबादले कर दिए।


जबकि ये तबादला सत्र शून्य है और बिना कार्मिक विभाग यानी सीएम की अनुमति के तबादले नहीं किए जा सकते। सबसे ज्यादा 20 से ज्यादा तबादले राजाजी पार्क में किए गए। वहां से तीन रेंजर सहित कई कर्मचारी हटाए गए। लेकिन एक भी रेंजर और कर्मचारी पार्क नहीं भेजा। 


इस मामले में प्रमुख सचिव स्तर से भी जांच भी कराई जा रही है। सोमवार को वन मंत्री डा. हरक सिंह ने इस मामले को गंभीर बताते हुए तत्काल सारे तबादले निरस्त करने के आदेश दिए हैं।



तबादला सत्र शून्य है। ऐसे में बिना मुख्यमंत्री की अनुमति के कोई तबादला नहीं हो सकता। रिटायर पीसीसीएफ जयराज ने जो भी तबादले इस दौरान किए वे सभी गलत हैं। सभी को तत्काल निरस्त करने के आदेश प्रमुख सचिव को दे दिए हैं। उनसे फाइल मंगवाकर मुख्यमंत्री को भेजी जाएगी।



डा. हरक सिंह रावत, वन मंत्री 


Sources:hindustan samachar