मौसम विभाग ने किया आगाह, अगले सात से दस दिन तक बन रहेंगी विषम परिस्थितियां


मौसम विभाग ने उत्तराखंड में अगले सात से दस दिन तक ठंड और फ्लू फैलने का खतरा जताया है। विभाग की ओर से इस संबंध में अलर्ट जारी किया गया है। दूसरी ओर, पहाड़ी जिलों में बर्फबारी के आसार भी जताए गए हैं।


प्रदेशभर में रविवार को दिन में धूप खिली रही। दोपहर बाद आंशिक बादल आने के बाद ठंड बढ़ गई। मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि अगले सात से दस दिन तक तापमान में 18 डिग्री सेल्सियस तक का वेरिएशन आ सकता है।
तापमान ऊपर-नीचे होने की वजह से ठंड बढ़ने और इससे फ्लू फैलने का खतरा पैदा हो गया है। लिहाजा, प्रदेशवासियों को सतर्क रहने की सलाह दी गई है।
उन्होंने बताया कि सोमवार को प्रदेश के पर्वतीय जिलों उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर और पिथौरागढ़ में हल्की बर्फबारी हो सकती है, जबकि मैदानी जिलों में आंशिक बादल छाए रह सकते हैं।


बादलों के बीच ठंड में भी इजाफा हो सकता है। रविवार को दिन का अधिकतम तापमान 30.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। सोमवार को भी दिन का तापमान 29 से 30 डिग्री सेल्सियस रहने का ही अनुमान है।
केदारनाथ समेत मद्महेश्वर व तुंगनाथ ने बर्फबारी 
केदारनाथ समेत मद्महेश्वर व तुंगनाथ में आधा घंटे तक हुई हल्की बर्फबारी से यहां ठंड बढ़ गई। जबकि निचले इलाकों में दिनभर सूरज व बादलों की आंखमिचौली होती रही। रविवार को केदारनाथ में सुबह से ही मौसम साफ रहा और धूप भी खिली रही, लेकिन दोपहर बाद अचानक घिरे घने बादलों के बीच कुछ देर बूंदाबांदी हुई और फिर बर्फबारी होने लगी।


लगभग आधा घंटे तक हुई हल्की बर्फबारी का धाम में मौजूद श्रद्धालुओं ने खूब आनंद लिया, लेकिन इसके बाद बढ़ी ठिठुरन के कारण सभी लोग कमरों में दुबक गए।


दूसरी ओर दुग्ध गंगा, चोराबाड़ी व वासुकीताल के ऊपरी तरफ जमकर हिमपात हुआ। केदारनाथ में इस सीजन की तीसरी बर्फबारी है। मौसम खराब होने के कारण केदारनाथ जाने वाले यात्रियों को भी परेशानी उठानी पड़ी। इधर, जिला मुख्यालय रुद्रप्रयाग समेत जिले के अन्य इलाकों में सुबह से ही बादलों की आंखमिचौली होती रही।


Source:AmarUjala