श्रीनगर लाल चौक में गिरफ्तारी के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं ने महबूबा के घर किया कूच



जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के तिरंगे वाले बयान पर हंगामा मच गया है। महबूबा के इस बयान पर भाजपा आक्रामक है। महबूबा के बयान के विरोध में भाजपा सोमवार को श्रीनगर से कुपवाड़ा तक तिरंगा यात्रा निकाल रही है।




 


श्रीनगर / श्रीनगर के ऐतिहासिक लाल चौक में तिरंगा फहराने जा रहे भाजपा कार्यकर्ताओं को पुलिस द्वारा हिरासत में लिए जाने के बाद भाजपा कार्यकर्ता अब एक रैली की शक्ल में पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती के घर की ओर रवाना हो रहे हैं। पार्टी के वरिष्ठ नेता अल्ताफ ठाकुर और सोफी युसूफ के नेतृत्व में पार्टी कार्यकर्ता श्रीनगर के शेर-ए-कश्मीर पार्क में इकट्ठे हुए और वहां से पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के घर की ओर रवाना हुए। इस दौरान उन्होंने पार्टी प्रधान महबूबा मुफ्ती के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर रहे थे।


उनका आरोप था कि पूर्व मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय ध्वज का अपमान किया है। वे उन्हें यह बताना चाहते हैं कि कश्मीर में भी हर कोई राष्ट्रीय ध्वज फहराना चाहता है। श्रीनगर के लाल चौक में तिरंगा फहराना भी इसकी का एक हिस्सा था। वहीं जम्मू में भी महबूबा मुफ्ती के खिलाफ रोष थमने का नाम नहीं ले रहा है। सोमवार को लगातार तीसरे दिन पीडीपी कार्यालय में युवा राष्ट्रीय ध्वज फहराने के लिए पहुुंचे। बड़ी संख्या में युवाओं ने हाथों में राष्ट्रीय ध्वज उठाए हुए थे और भारत माता की जय के जयघोष करते हुए जम्मू स्थित पीडीपी कार्यालय पहुंचे। हालांकि प्रशासन ने पहले से ही पीडीपी कार्यालय के बाहर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हुए थे। लेकिन युवाओं के आक्रोश के आगे सुरक्षाकर्मियों की एक न चली। सुरक्षा घेरे को तोड़ युवा पीडीपी कार्यालय में घुस गए और वहां राष्ट्रीय ध्वज फहराया। इस मौके पर युवाओं का नेतृत्व कर रहे दीपक ने कहा कि जम्मू के युवा राष्ट्रीय ध्वज का अपमान सहन नहीं करेंगे।


 


Source:Agency News