काशी के डोम राजा के निधन पर, मुख्यमंत्री ने जताया शोक


वाराणसी  / बहुत ही दुखद खबर लोकसभा के प्रस्तावक रहें आदरणीय डोम राजा जगदीश चौधरी जी अब हमारे बिच नही रहें . 


मुख्यमंत्री ने कहा 2019 के लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रस्तावक रहे, आदरणीय डोम राजा जगदीश चौधरी जी का निधन, सादर नमन ! 


बता दे कि सुबह मंगलवार को उनका निधन हो गया , जांघ में घाव के चलते कुछ महीनों से उनका निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था और वही उन्होंने अंतिम सांस ली. घाटों पर अंतिम संस्कार की जिम्मेदारी डोम समाज के पास है। काशी में इस प्रमुख जिम्मेदारी को निभाने के कारण इन्हें डोम राजा कहा जाता है।


जगदीश चौधरी ने पीएम मोदी का प्रस्तावक बनने पर गर्व जताते हुए कहा था कि यह पूरी बिरादरी के लिए गर्व की बात है कि मैं प्रधानमंत्री का प्रस्तावक बन सका। 


डोम राजा केवल बनारस के लिए लिहाज़ से ही नही बल्कि आध्यात्म के लिहाज से भी महत्वपूर्ण हैं- 


हरिश्चंद्र और मणिकर्णिका घाट में 500 से 600 डोम रहते हैं, जबकि उनकी बिरादरी में पांच हजार से अधिक लोग हैं।


 हिन्दू धर्म में छुआछूत समाप्त करने के उद्देश्य से महंत अवैद्यनाथ जी ने डोम राजा के घर साधुओं के साथ भोजन कर शुरू की थी सहभोज की शुरुआत- मुख्यमंत्री जी ने ,डोम राजा जगदीश चौधरी ने कहा था कि अब हमारे समाज को अलग पहचान मिली है।


Source :Agency news