सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

पूर्व मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद सिंह रावत नहीं लड़ेंगे चुनाव

 देहरादून : बहुत बड़ी खबर निकल कर सामने आ रही है कि उत्‍तराखंड के पूर्व मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत इस बार विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। जानकारी के मुताबिक उन्‍होंने भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा को पत्र लिखकर यह इच्‍छा जाहिर की है। उन्‍होंने कहा कि धामी के नेतृत्‍व में भाजपा की सरकार बनाने के लिए काम करना चाहता हूं।  जेपी नडडा को लिखे पत्र में उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री के रूप में कार्य करने का अवसर देने के लिए आभार भी व्‍य‍क्‍त किया है। साथ ही ये भी कहा है कि प्रदेश में युवा नेतृत्‍व वाली सरकार अच्‍छा काम कर रही है। उन्‍होंने कहा, बदली हुई राजनीतिक परिस्थितियों में मुझे चुनाव नहीं लड़ना चाहिए। इसलिए मेरा अनुरोध स्‍वीकार कर लिया जाए। आपको बता दें कि त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पत्र में लिखा कि मान्‍यवार पार्टी ने मुझे देवभूमि उत्‍तराखंड के मुख्‍यमंत्री के रूप में सेवा करने का अवसर दिया यह मेरा परम सौभाग्‍य था। मैंने भी कोशिश की कि पवित्रता के साथ राज्‍य वासियों की एकभाव से सेवा करुं व पार्टी के संतुलित विकास की अवधारणा को पुष्‍ट करूं। प्रधानमंत्री जी का भरपूर सहयोग व आशीर्वाद मु

यूपी : चुनाव से पहले योगी सरकार देगी विद्यार्थियों को टैबलेट और स्मार्ट फोन

 


पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती के अवसर पर उत्तर प्रदेश के छात्र छात्राओं को एक करोड़ मुक्त टैबलेट और स्मार्टफोन वितरण अभियान का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में शुभारंभ किया। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इससे योजना के जरिए युवाओं के जीवन में तरक्की के नए अवसर आएंगे। उन्हें ना सिर्फ पढ़ाई के लिए कंटेंट मिलेगा बल्कि रोजगार संबंधी जानकारियां भी मिलेंगी। उन्होंने कहा कि कोरोना के समय देखा कि तकनीक का व्यक्ति के जीवन में बड़ा महत्व है। बच्चे बताते थे कि स्मार्टफोन, टैबलेट न होने की वजह से पढ़ाई नहीं हो पा रही है। तब हमने तय किया कि राज्य के 1 करोड़ युवाओं को टैबलेट देने की सुविधा से जोड़ेंगे।

इस अवसर पर योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज अटल जी हमारे बीच नहीं है लेकिन वो हमेशा हमें प्ररेणा देते रहते हैं, उन्होंने कहा था सिंद्धांत विहीन राजनीति मौत का फंदा होती है, जो व्यक्ति समाज के लिए जीता है, उसका ही जीवन प्रेरणादयी होता है। उन्होंने कहा कि जब सरकार की नीयत साफ होती है तो काम भी दमदार दिखता है, सोच ईमानदार तो काम दमदार। योगी ने कहा कि 2017 से पहले जो नियुक्तियां होती थीं तो उसमे भाई भतीजावाद चलता था। वहां तो एक खानदान के लोग वसूली पर निकल पड़ते थे। महाभारत का कोई भी रिश्ता नहीं बचता था जो वसूली पर न निकलता हो। हमारी सरकार में साफ है कि प्रदेश में नौजवानों के साथ जो भी खिलवाड़ करेगा उसकी जगह जेल में होगी। उन्होंने कहा कि वो माफिया जो गरीबों की संपत्ति पर कब्जा करते थे, व्यापारियों से वसूली करते थे, अब ऐसे माफियाओं पर जब बुलडोजर चल रहा है तो माफियाओं के होश तो उड़े ही हैं साथ ही उन्हें संरक्षण देने वालों के भी होश उड़ गए हैं।योगी ने कहा कि 2017 से पहले प्रदेश में बेरोजदारी की दर 18 फीसदी थी, लेकिन 2017 के बाद हमारी सरकार में महज चाढ़े चार साल के अंदर बेरोजगारी दर 4 फीसदी रह गई है। अखिलेश पर तंज कसते हुए योगी ने कहा कि 12 बजे सोकर उठकर वाले युवा नहीं हैं, कोरोना में वैक्सीन का विरोध करने वाले और गुमराह करने वाले युवा नहीं हैं, ये सब टायर्ड हैं और रिटायर्ड हैं, इन पर भरोसा न करना। 2017 से पहले की स्थित ऐसी थी कि कोई भी युवा बाहर नौकरी के लिए जाता था तो यूपी का नाम सुनकर लोग उसे हेय दृष्टि से देखते थे, लेकिन 2017 के बाद आज प्रदेश के लिए परसेप्शन बदला है। 

टिप्पणियाँ

Popular Post