सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

पूर्व मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद सिंह रावत नहीं लड़ेंगे चुनाव

 देहरादून : बहुत बड़ी खबर निकल कर सामने आ रही है कि उत्‍तराखंड के पूर्व मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत इस बार विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। जानकारी के मुताबिक उन्‍होंने भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा को पत्र लिखकर यह इच्‍छा जाहिर की है। उन्‍होंने कहा कि धामी के नेतृत्‍व में भाजपा की सरकार बनाने के लिए काम करना चाहता हूं।  जेपी नडडा को लिखे पत्र में उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री के रूप में कार्य करने का अवसर देने के लिए आभार भी व्‍य‍क्‍त किया है। साथ ही ये भी कहा है कि प्रदेश में युवा नेतृत्‍व वाली सरकार अच्‍छा काम कर रही है। उन्‍होंने कहा, बदली हुई राजनीतिक परिस्थितियों में मुझे चुनाव नहीं लड़ना चाहिए। इसलिए मेरा अनुरोध स्‍वीकार कर लिया जाए। आपको बता दें कि त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पत्र में लिखा कि मान्‍यवार पार्टी ने मुझे देवभूमि उत्‍तराखंड के मुख्‍यमंत्री के रूप में सेवा करने का अवसर दिया यह मेरा परम सौभाग्‍य था। मैंने भी कोशिश की कि पवित्रता के साथ राज्‍य वासियों की एकभाव से सेवा करुं व पार्टी के संतुलित विकास की अवधारणा को पुष्‍ट करूं। प्रधानमंत्री जी का भरपूर सहयोग व आशीर्वाद मु

एनएसयूआई कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने बरसाई लाठी, बरकतउल्ला विश्वविद्यालय में कर रहे थे प्रदर्शन

  


भोपालराजधानी भोपाल में ऑनलाइन परीक्षा की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर पुलिस का कहर बरसा है। बरकतउल्ला यूनिवर्सिटी में पुलिस ने छात्रों को पीटा पिटाई।कई छात्रों को पुलिस यूनिवर्सिटी कैंपस से उठाकर भी ले गई है।दरअसल बुधवार को एनएसयूआई के नेतृत्व में छात्र-छात्राओं ने प्रदर्शन किया। छात्र-छत्राएं मांग कर रहे थे कि कोरोना के नए वेरिएंट को देखते हुए परीक्षाएं ऑनलाइन माध्यम से आयोजित की जाए। ये भी बताया जा रहा है कि छात्र-छात्राओं का यह प्रदर्शन शांतिपूर्ण तरीके से चल रहा था। 

वहीं विश्वविद्यालय के कुलपति आएं और उनसे बात कर उनकी मांगों पर विचार करें। विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ आरजे राव छात्रों से जब बात करने आए तो उन्होंने आश्वासन दिया कि 15 मिनट के भीतर परीक्षा निरस्त करने संबंधी आदेश जारी कर आपको भिजवा रहा हूं। आदेश की कॉपी से पहले काफी संख्या में पुलिस पहुंच गई। आपको बता दें कि पुलिस ने छात्रों को समझाने की कोशिश की। लेकिन संगठन के छात्र नही माने तब पुलिस ने यहां लाठीचार्ज करना शुरू कर दिया। इसके बाद पुलिस करीब 9 छात्रों को कैंपस से उठा ले गई।मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने एनएसयूआई मेडिकल विंग के समन्वयक रवि परमार, छात्र नेता अक्षय तोमर व सोहन मेवाड़ा के साथ अन्य छात्रों को बागसेवनिया लेकर आई है।इस मुद्दे पर यूथ कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष विवेक त्रिपाठी दर्जनों युवाओं के साथ बाग सेवनिया थाने पहुंचे हैं। त्रिपाठी छात्रों से मुलाकात करने पर अड़े हुए हैं जबकि पुलिस उन्हें अंदर नहीं जाने दे रही है। विवेक त्रिपाठी ने चेतावनी दिया है कि 1 घंटे के भीतर यदि सभी छात्रों को नहीं छोड़ा गया तो सैंकड़ों यूथ कांग्रेस थाने के बाहर धरना देगी।


टिप्पणियाँ

Popular Post