सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव.संग्राम 2022: भाजपा.और आप के बीच में छिड़ा स्टार वार,कांग्रेस कर रही इंतजार

      भाजपा व आप ने रणनीति के तहत स्टार वार का गेम शुरू किया है। दरअसल, आचार संहिता लागू होने पर वीवीआईपी की रैलियां कराने के लिए पूरा खर्चा प्रत्याशियों के खाते में शामिल होता है।  उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव से पहले स्टार वार शुरू हो चुका है। भाजपा और आम आदमी पार्टी अभी इसमें आगे चल रही है, जबकि कांग्रेस अभी इंतजार के मूड में है।   निर्वाचन आयोग की टीमों की इस पर पैनी नजर रहती हैं।  निर्धारित सीमा से ज्यादा खर्च होने की दशा में ऐसे प्रत्याशियों को आयोग के नोटिस झेलने पड़ते हैं और चुनाव के वक्त इनका जवाब देने में उनका समय अनावश्यक जाया होता है। भाजपा में सबसे ज्यादा डिमांड प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की है। वे दो माह के भीतर उत्तराखंड के दो दौरे कर चुके हैं। पहले वे सात अक्तूबर को ऋषिकेश एम्स में आक्सीजन प्लांट जनता को समर्पित करने आए और इसके बाद पांच नवंबर को केदारनाथ धाम के दर्शन को पहुंचे। अब मोदी चार दिसंबर को दून में चुनाव रैली संबोधित करने आ रहे हैं। उधर, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी इस बीच दो दौरे कर चुके हैं। अक्तूबर में कुमाऊं के कई हिस्सों में आपदा के बाद वे रेस्क्यू आपरेशन

पूर्व कैबिनेट मंत्री आर्य के समर्थकों ने फूंका सीएम का पुतला



 बाजपुर /  हल्द्वानी में रामलीला मैदान में 10 नवंबर को प्रस्तावित कांग्रेस के शंखनाद व सम्मान समारोह कार्यक्रम को कैंसिल कराकर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का उस दिन कार्यक्रम कराने का आरोप लगाते हुए पूर्व कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य के समर्थकों ने भगत सिंह चौक पर प्रदर्शन कर नारेबाजी की। उन्होंने मुख्यमंत्री के पुतले को आग के हवाले किया।कांग्रेस कार्यकर्ता सीएम के पुतले के साथ जुलूस की शक्ल में सोमवार को भगत सिंह चौक पर पहुंचकर पुतला फूंका।यहां हुई सभा में वक्ताओं ने कहा कि कांग्रेस के बढ़ते जनाधार व पूर्व कैबिनेट मंत्री आर्य की लोकप्रियता से भाजपा पूरी तरह से बौखला गई है। भाजपा तानाशाही पर उतर आई है और अपनी खींज निकालने के लिए अलोकतांत्रिक तरीके से काम कर रही है। हल्द्वानी में 10 नवंबर को पहले से प्रस्तावित पूर्व कैबिनेट मंत्री यशपाल के सम्मान समारोह, पार्टी सदस्यता एवं शंखनाद कार्यक्रम को विफल करने के लिए इस कार्यक्रम को कैंसिल करवा दिया गया है। इसी दिन मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपना कार्यक्रम हल्द्वानी में प्रस्तावित कर दिया है। यह दर्शाता है कि भाजपा सरकार पूर्व कैबिनेट मंत्री के बढ़ते जनाधार से घबरा गई है। जनता भाजपा को आगामी विधानसभा चुनावों में सबक सिखाने के लिए तैयार बैठी है। धरना प्रदर्शन करने वालों में ब्लॉक प्रमुख पति राजकुमार, सभासद मुकुंद शुक्ला, डीके जोशी, मुक्तेश्वर शाही, पवन शर्मा, रजनीत सिंह सोनू, हरदीप परमार, हरदेव सिंह, आशु भट्ट, अभिषेक तिवारी, अजीत चौधरी, बृजेश यादव, तकी अहमद, फुरकान रजा, लीलाधर सैनी, मोहन सिंह चौहान, राहुल गुप्ता, जावेद वारसी आदि शामिल थे।

टिप्पणियाँ

Popular Post