सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

त्रिपुरा हिंसा : सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्‍य सरकार को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने के दिए निर्देश

    नई दिल्‍ली /   सुप्रीम कोर्ट त्रिपुरा में हाल ही में हुई सांप्रदायिक हिंसा के मामले में राज्य पुलिस की कथित मिली-भगत और निष्क्रियता के आरोपों की स्वतंत्र जांच के लिए दाखिल याचिका पर सुनवाई के लिए सहमत हो गया है। सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका पर सोमवार को केंद्र और राज्य सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। न्यायमूर्ति डीवाई चन्द्रचूड़ और न्यायमूर्ति एएस बोपन्ना की पीठ ने सरकारों को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने का निर्देश दिया है।  अधिवक्ता ई. हाशमी की ओर से दाखिल याचिका पर अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने पैरवी की। उन्‍होंने सर्वोच्‍च अदालत से कहा कि वे हालिया साम्प्रदायिक दंगों की स्वतंत्र जांच चाहते हैं। इस मामले में अब दो हफ्ते बाद सुनवाई होगी। भूषण ने कहा कि सर्वोच्‍च अदालत के समक्ष त्रिपुरा के कई मामले लंबित हैं। पत्रकारों पर यूएपीए के आरोप लगाए गए हैं। यही नहीं कुछ वकीलों को नोटिस भेजा गया है। पुलिस ने हिंसा के मामले में कोई एफआइआर दर्ज नहीं की है। ऐसे में अदालत की निगरानी में इसकी जांच एक स्वतंत्र समिति से कराई जानी चाहिए। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने याचिका की प्रति केंद्रीय एजेंसी और

सिंघु बॉर्डर पर किसानों के मंच के पास लटकी मिली युवक की लाश, एक हाथ काटकर बैरिकेड से लटकाया

 


  किसानों के बड़े आंदोलनस्थलों में से एक सिंघु बॉर्डर  पर किसानों के मंच के पास शुक्रवार को एक व्यक्ति की बेरहमी से हत्या करने का मामला सामने आया है। जानकारी के अनुसार, उसका एक हाथ काटकर शव को बैरिकेड से लटका दिया गया। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची कुंडली थाना पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर घटना की जांच शुरू कर दी है।जानकारी के अनुसार, सिंघु बॉर्डर पर कुंडली एरिया में कथित तौर पर निहंगों ने एक युवक की पीट-पीट कर हत्या कर दी। इतना ही नहीं हत्या के बाद मृतक का एक हाथ भी काट दिया गया। कहा जा रहा है कि निहंगों ने गुरु ग्रंथ साहिब से छेड़छाड़ के आरोप पर उस युवक की हत्या कर दी थी। युवक की बेरहमी से हत्या की घटना से सनसनी फैल गई है।ज्ञात हो कि युवक की लाश मिलने के बाद सिंघु बॉर्डर पर जमकर हंगामा शुरू हो गया। मृतक शख्स की उम्र 35 के आसपास बताई जा रही है। युवक के शरीर पर धारदार हथियार के निशाने होने की भी बात कही जा रही है। भारी हंगामे के बीच पुलिस ने उस लाश को नीचे उतारा और सिविल अस्पताल लेकर गई। सोनीपत पुलिस के एक प्रवक्ता ने कहा कि उन्हें सूचना मिली है कि सिंघू-कुंडली सीमा पर किसानों के विरोध स्थल के मुख्य मंच के पास एक अज्ञात व्यक्ति का हाथ कटा हुआ था और उसका शव लटका हुआ था। प्रवक्ता ने कहा कि निहंगों पर गुरु ग्रंथ साहिब को कथित रूप से अपवित्र करने के लिए उनकी हत्या करने का आरोप लगाया जा रहा है। उन्होंने पूरी घटना का वीडियो भी बना लिया था। वरिष्ठ अधिकारी साइट पर पहुंच गए हैं। सोनीपत पुलिस के एक प्रवक्ता ने कहा कि उन्हें सूचना मिली है कि सिंघू-कुंडली सीमा पर किसानों के विरोध स्थल के मुख्य मंच के पास एक अज्ञात व्यक्ति का हाथ कटा हुआ था और उसका शव लटका हुआ था। प्रवक्ता ने कहा कि निहंगों पर गुरु ग्रंथ साहिब को कथित रूप से अपवित्र करने के लिए उनकी हत्या करने का आरोप लगाया जा रहा है। उन्होंने पूरी घटना का वीडियो भी बना लिया था। वरिष्ठ अधिकारी साइट पर पहुंच गए हैं। 

हालांकि, निहंगों के एक समूह ने दावा किया कि उन्होंने घटना का वीडियो बनाया था और मृतक व्यक्ति ने स्वीकार किया था कि उसे 30,000 रुपये देने के बदले गुरु ग्रंथ साहिब को अपवित्र करके माहौल को बिगाड़ने के लिए किसानों के धरनास्थल पर भेजा गया था।


टिप्पणियाँ

Popular Post