Featured Post

विधानसभा में नौकरी का झांसा देकर तीन युवकों से ठगी

  


देहरादून /  विधानसभा में सहायक समीक्षा अधिकारी पद पर नौकरी झांसा देकर तीन युवकों से नौ लाख रुपये ठग लिए गए। आरोपियों ने एक महीने में नौकरी दिलाने का झांसा दिया। पीड़ितों को एक साल बीतने के बाद भी नौकरी नहीं मिली तो उन्होंने एसएसपी कार्यालय में तहरीर दी। शिकायत पर नेहरू कॉलोनी थाना पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।नेहरू कॉलोनी थानाध्यक्ष सतबीर बिष्ट ने बताया कि धोखाधड़ी को लेकर दून निवासी यशपाल सिंह, मोहन सिंह और अतुल रावत ने तहरीर दी। यशपाल ने पुलिस को बताया कि उसकी मुलाकात पिछले साल प्रवेश खंडूरी निवासी कारगी चौक, बंजारवाला से हुई। उसने झांसा दिया कि विधानसभा में नियुक्तियां होने वाली हैं। उसकी जान पहचान अनिरुद्ध शर्मा से है। जो उन्हें विधानसभा में नौकरी दिला सकता है। जय प्रकाश नाम के व्यक्ति को ओएनजीसी का डायरेक्टर बताते हुए अपना करीबी बताया। कहा कि वह नौकरी दिलाने में मदद करेंगे। आरोपियों ने खुद के और जिस व्यक्ति को ओएनजीसी का डायरेक्टर बताया उसके पूर्व राज्यपाल से भी करीबी संबंध होने की बात कही। ऐसे में पीड़ित झांसे में आ गया। उसे कहा कि एक महीने में नौकरी मिल जाएगी। इसके लिए दस लाख रुपये लगेंगे। पीड़ित से कहा कि वह दस लोगों को लगवा सकते हैं। उसके अन्य कोई करीबी हैं तो उन्हें भी लगवा सकता है। पीड़ित ने फिर अपने भाई मोहन सिंह और उसके दोस्त अतुल रावत को बताया। तीनों तैयार हुए। हालांकि, दस-दस लाख रुपये नहीं जुटा पाने की बात कहते हुए एक बार मना कर दिया। इसके बाद आरोपियों ने कहा कि अभी जितने रुपये हैं उतने दे दो। शेष रकम नौकरी मिलने पर दे देना। इस तरह तीनों ने नौ लाख रुपये आरोपियों को पिछले साल जुलाई में दे दिए। इसके बाद आरोपी उन्हें चक्कर कटने लगे और नौकरी नहीं मिली। पीड़ित ने रकम वापस मांगी तो वह भी नहीं लौटाई गई। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने प्रवेश खंडूरी निवासी बंजारावाला और अनिरुद्ध शर्मा निवासी पशुपति हाईट्स, दून यूनिवर्सिटी रोड के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Comments