सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

सरकार से बातचीत के लिए संयुक्त किसान मोर्चा ने बनाई 5 लोगों की कमेटी, टिकैत बोले- हम कहीं नहीं जा रहे

  कृषि कानूनों के निरस्त होने के बाद आज संयुक्त किसान मोर्चा के अहम बैठक हुई। इस बैठक में आंदोलन संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई। इसके साथ ही 5 लोगों की कमेटी बनाई गई है जो सरकार से एमएसपी और किसानों से केस वापसी जैसे मुद्दों पर बातचीत करेगी। अब संयुक्त किसान मोर्चा की अगली बैठक 7 दिसंबर को होगी। बैठक के बाद राकेश टिकैत ने बताया कि 5 लोगों की कमेटी बनाई है। यह कमेटी सरकार से सभी मामलों पर बातचीत करेगी। अगली मीटिंग संयुक्त किसान मोर्चा की यहीं पर 7 तारीख को 11-12 बजे होगी। इस 5 लोगों की कमेटी में युद्धवीर सिंह, शिवकुमार कक्का, बलबीर राजेवाल, अशोक धवाले और गुरनाम सिंह चढुनी के नाम पर सहमति बनी है। बताया जा रहा है कि यह संयुक्त किसान मोर्चा की यह हेड कमेटी होगी जो किसानों से जुड़े मुद्दे पर महत्वपूर्ण फैसले लेगी। हालांकि बताया यह भी जा रहा है कि अब तक सरकार की ओर से आधिकारिक तौर पर बातचीत के लिए किसानों को नहीं बुलाया गया है। लेकिन जब भी सरकार की ओर से किसानों को बातचीत के लिए बुलाया जाएगा, यह 5 लोग ही जाएंगे। राकेश टिकैत की ओर से फिर दोहराया गया कि आंदोलन फिलहाल खत्म नहीं होगा। उन

आपदा का पांचवां दिन, उत्तराखंड में 130 सड़कें बंद, पिथौगागढ़ में 50 जगह यात्री फंसे

उत्तराखंड में आपदा के पांचवें दिन बाद भी 130 सड़कें नहीं खुल पाई हैं। इनमें कई राष्ट्रीय व राज्य मार्ग भी शामिल हैं। ग्रामीण सड़कों के बंद होने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र की तरफ से शुक्रवार को भेजी गई रिपोर्ट में बताया गया है कि आपदाग्रस्त जनपद नैनीताल में एक राष्ट्रीय और चार राज्य मोटर मार्ग के साथ ही 27 ग्रामीण मोटर मार्ग अवरुद्ध हैं, जिन्हें लोनिवि खोलने के प्रयास में लगा है।पिथौरागढ़ में सर्वाधिक 50 सड़कों पर अभी वाहनों का संचालन नहीं हो पा रहा है। इनमें सात बार्डर व तीन मुख्य मार्ग भी शामिल हैं, जबकि टनकपुर-पिथौरागढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहनों की आवाजाही शुरू हो चुकी है। टनकपुर-चंपावत राष्ट्रीय मार्ग स्वाला व भारतोली के पास बार-बार भूस्खलन व पत्थर गिरने से अवरुद्ध है, जिले में 21 सड़कें अभी बाधित हैं।वहीं, चारधाम मार्ग फिलहाल खुले हैं। गढ़वाल मंडल में सिर्फ आठ सड़कें ही बाधित हैं। उधर, लोनिवि के प्रभारी प्रमुख अभियंता प्रमोद कुमार ने बताया कि राज्य भर में विभिन्न अवरुद्ध सड़कों को खोलने के लिए 143 जेसीबी लगाई गई हैं। सड़कों को खोलने के लिए दिन-रात मजदूर काम पर लगे हैं और सभी सर्किलों को अधीक्षण अभियंताओं को इसे प्राथमिकता से लेने के निर्देश दिए हैं।

टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव