कैप्टन राज की ब्यूरोक्रेसी से भी दिक्कत, बदलाव में जुटे चन्नी

 


  पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह के स्थान पर नए बने सीएम चरणजीत सिंह चन्नी कैबिनेट में बड़े बदलाव करने वाले हैं। कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह के दौर के मंत्रियों को कैबिनेट से बाहर ही रखा जाएगा। यही नहीं ब्यूरोक्रेसी में भी बड़े बदलाव की तैयारी है। एक तरफ नए डीजीपी की तलाश है तो वहीं 9 आईएएस अधिकारियों का मंगलवार को तबादला कर दिया गया था। अब कांग्रेस विधायक कुलदीप सिंह वैद्य ने साफ तौर पर कहा है कि नए सीएम के दौर में कैप्टन राज के सभी अफसरों को भी बदल दिया जाएगा।

विधायक कुलदीप सिंह वैद्य ने बुधवार को कहा कि हम पुरानी ब्यूरोक्रेसी को बदल देंगे, जो कैप्टन अमरिंदर सिंह के दौर में काम कर रही थी। विधायक ने कहा कि हम 6 महीने का काम तीन महीने में ही निपटाएंगे। नए सीएम चरणजीत सिंह चन्नी चौबीसों घंटे काम कर रहे हैं। विधायक ने भले ही खुलकर किसी का नाम नहीं लिया, लेकिन उनका इशारा साफ था कि कैप्टन अमरिंदर सिंह के राज में काम की गति धीमी थी। लंबी उठापटक के बाद पिछले सप्ताह कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। उसके बाद चरणजीत सिंह चन्नी को हाईकमान ने सीएम बनाया है और उनके साथ दो डिप्टी सीएम चुने गए हैं।

इसके अलावा मंगलवार को सीएम चन्नी अपने दोनों उपमुख्यमंत्रियों और प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह के साथ दिल्ली पहुंचे थे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वह अपनी मंत्रिपरिषद में नेताओं के चुनाव के लिए दिल्ली पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस नेता राहुल गांधी और राज्य के प्रभारी हरीश रावत से मुलाकात की थी। कुछ ही दिनों में पंजाब में चरणजीत सिंह चन्नी के मंत्री शपथ ले सकते हैं।