योगी आदित्यनाथ सरकार ने कर ली सुल्तानपुर जिले का भी नाम बदलने की तैयारी,कैबिनेट से पास होगा प्रस्ताव

 


 

लखनऊ /  उत्तर प्रदेश में अलीगढ़ तथा मैनपुरी के साथ ही अब सुल्तानपुर का भी नाम बदलने की तैयारी है। अलीगढ़ और मैनपुरी जिला पंचायत की बैठक में नाम बदलने का प्रस्ताव जिला पंचायत की बैठक में पास हो गया है। सुल्तानपुर के डीएम तथा अयोध्या मंडल के कमिशनर ने नाम बदलने का प्रस्ताव शासन को भेजा है, जिस पर राजस्व विभाग में कागजी कार्यवाही हो रही है।उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार सुल्तानपुर जिले का नाम भगवान श्रीराम के ज्येष्ठ पुत्र कुश के नाम पर कुश भवनपुर करने की तैयारी कर रही है। इस पर अंतिम निर्णय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता वाली प्रदेश कैबिनेट करेगी। फिलहाल नाम बदलने को लेकर कागजी कार्यवाही आरंभ हो गई है। राजस्व परिषद ने अपनी संस्तुति शासन को भेज दी है। अब इस पर अंतिम निर्णय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता वाली प्रदेश कैबिनेट करेगी। माना जा रहा है कि विधानसभा चुनाव 2022 से पहले एक बार फिर जिलों का नाम बदलकर सरकार के धाॢमक एजेंडे को धार देने की तैयारी है। प्रदेश सरकार सुल्तानपुर जिले का नाम भगवान श्रीराम के ज्येष्ठ पुत्र कुश के नाम पर कुश भवनपुर करने की तैयारी कर रही है। राजस्व परिषद के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि परिषद ने अपनी संस्तुति शासन को भेज दी है। अब इस पर अंतिम निर्णय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता वाली प्रदेश कैबिनेट करेगी।सुल्तानपुर के लोग लंबे समय से जिले का नाम बदलकर कुश भवनपुर करने की मांग करते रहे हैं। लंभुआ (सुल्तानपुर) के भाजपा विधायक देवमणि द्विवेदी ने विधानसभा में यह मुद्दा उठाया था। इस बीच सुल्तानपुर के डीएम के साथ अयोध्या के मंडलायुक्त ने गजेटियर में सुल्तानपुर के प्राचीन इतिहास का हवाला देते हुए जिले का नाम कुश भवनपुर करने की सिफारिश शासन व राजस्व परिषद को भेजी थी। सुल्तानपुर जिले का नाम बदलने के प्रस्ताव में कहा गया है कि त्रेता युग में भगवान राम के पुत्र कुश की राजधानी कुश भवनपुर हुआ करती थी। महराज कुश के आगे की पीढिय़ों ने द्वापर तक यहां राज किया और कौरव सेना की ओर से लड़ते हुए वीरगति को प्राप्त हुए। इसके बाद में कुश भवनपुर को सुल्तानपुर कहा जाने लगा।

 

Sources: जेएनएन