नशामुक्ति केंद्र में दुष्कर्म का आरोपित संचालक चढ़ा पुलिस के हत्थे

 


  देहरादून /  वाक एंड विन सोबेर लिविंग होम्स नशा मुक्ति केंद्र में युवती के साथ दुष्कर्म के मामले में पुलिस ने आरोपित विद्या दत्त रतूड़ी को ऋषिकेश रोड श्यामपुर से गिरफ्तार कर लिया है। थाना क्लेमेंटटाउन पुलिस ने आरोपित के खिलाफ छह अगस्त को मुकदमा दर्ज किया था, जिसके बाद से वो फरार चल रहा था।दुष्कर्म के आरोपित विद्यादत्त रतूड़ी को पुलिस ने रविवार रात ऋषिकेश और श्यामपुर से गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में पुलिस केंद्र की अध्यक्ष विभा सिंह को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। पूछताछ में आरोपित ने बताया कि उसके पिता एयरफोर्स में कर्मचारी थे, वह उनके साथ कानपुर में रहता था। वहां से उसे शराब पीने की लत लग गई। टिहरी जिले में भी उसके एक महिला के साथ संबंध थे, जिसके चलते 2017 में उसके खिलाफ टिहरी में मुकदमा दर्ज किया गया था और इस मामले वहां जेल भी जा चुका है।2018 में उसके स्वजनों ने उसे एसजी फाउंडेशन सरस्वती विहार देहरादून में शराब का नशा छुड़ाने के लिए भर्ती कराया था, जहां उसने नशा मुक्ति केंद्र में स्टाफ के रूप में काम करना शुरू कर दिया। वहां वह करीब तीन साल तक काम करता रहा। वहीं उसकी मुलाकात विभा सिंह से हुई थी, जो नशा छुड़ाने के लिए उसी नशा मुक्ति केंद्र में आई थी।नशा मुक्ति केंद्र में ही दोनों ने मिलकर नशा मुक्ति केंद्र खोलने की योजना बनाई फरवरी 2021 में उन्होंने प्रकृति बिहार क्लेमेंट टाउन में अपना नशा मुक्ति केंद्र खोला यहां से 5 अगस्त को चार लड़कियां फरार हो गई। लड़कियों के भागने के बाद वह इसलिए फरार हो गया कहीं लड़कियां उसकी पोल ना खोल दे।