ब्रिटेन में फिर कोरोना का तांडव, जनवरी के बाद पहली बार 50 हजार नए केस,लग सकता है लॉकडाउन

 

 



ब्रिटेन में कोरोना वायरस की अप्रत्याित उछाल ने एक बार फिर से दहशत पैदा कर दी है। ब्रिटेन में जनवरी के बाद से पहली बार एक दिन में कोरोना वायरस के 50 हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं। वहीं, खतरनाक वायरस से बीते 24 घंटे में 49 लोगों की मौतें हुई हैं। ब्रिटेन में जिस तरह से फिर से कोरोना विस्फोट हो रहा है, उससे एक बार फिर लॉकडाउन की आहट सुनाई देने लगी है।हेल्थ डिपार्टमेंट के मुताबिक, देश में एक दिन में 51870 कोरोना के पॉजिटिव केस मिले हैं। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़े बताते हैं कि एक सप्ताह में पॉजिटिव केसों की संख्या में 45 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। इतना ही नहीं, अस्पतालों में भी फिर से भीड़ बढ़ने लगी है। कोरोना के मामलों में अचानक उछाल के बाद अब अस्पताल में मरीजों की संख्या और मौतें दोनों लगातार बढ़ रही हैं। हालांकि, बढ़ते मामलों के लिए शीर्ष विशेषज्ञों ने कोरोना प्रतिबंधों में ढील और यूरो 2020 को दोषी ठहराया है।यह 15 जनवरी को सबसे अधिक 55,761 मामले सामने आए थे। हालांकि, ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री साजिद जाविद का कहना है कि ब्रिटेन में दो-तिहाई वयस्कों को कोविड-19 टीके की दोनों खुराक मिल गई हैं। उन्होंने कहा कि हमने अपने लक्ष्य को लगभग एक सप्ताह में पूरा कर लिया है। यह एक बहुत बड़ी उपलब्धि है। आगे आने वाले सभी लोगों को धन्यवाद। टीका वायरस के खिलाफ हमारी ढाल है।इधर, ब्रिटेन के स्वास्थ्य अधिकारियों की मानें तो कोरोना वायरस के डेल्टा स्वरूप की वजह से देश में कोरोना का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। 'पब्लिक हैल्थ इंग्लैंड (पीएचई) ने कहा कि संक्रमण के मामले अधिक हैं तथा बढ़ते जा रहे हैं लेकिन उसके अनुरूप कोविड-19 के मरीजों को अस्पताल में भर्ती करने की उतनी जरूरत नहीं पड़ रही है जो इस बात का संकेत है कि कोरोना वायरस के इस बेहद संक्रामक स्वरूप के खिलाफ भी टीके प्रभावी हैं।