सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव.संग्राम 2022: भाजपा.और आप के बीच में छिड़ा स्टार वार,कांग्रेस कर रही इंतजार

      भाजपा व आप ने रणनीति के तहत स्टार वार का गेम शुरू किया है। दरअसल, आचार संहिता लागू होने पर वीवीआईपी की रैलियां कराने के लिए पूरा खर्चा प्रत्याशियों के खाते में शामिल होता है।  उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव से पहले स्टार वार शुरू हो चुका है। भाजपा और आम आदमी पार्टी अभी इसमें आगे चल रही है, जबकि कांग्रेस अभी इंतजार के मूड में है।   निर्वाचन आयोग की टीमों की इस पर पैनी नजर रहती हैं।  निर्धारित सीमा से ज्यादा खर्च होने की दशा में ऐसे प्रत्याशियों को आयोग के नोटिस झेलने पड़ते हैं और चुनाव के वक्त इनका जवाब देने में उनका समय अनावश्यक जाया होता है। भाजपा में सबसे ज्यादा डिमांड प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की है। वे दो माह के भीतर उत्तराखंड के दो दौरे कर चुके हैं। पहले वे सात अक्तूबर को ऋषिकेश एम्स में आक्सीजन प्लांट जनता को समर्पित करने आए और इसके बाद पांच नवंबर को केदारनाथ धाम के दर्शन को पहुंचे। अब मोदी चार दिसंबर को दून में चुनाव रैली संबोधित करने आ रहे हैं। उधर, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी इस बीच दो दौरे कर चुके हैं। अक्तूबर में कुमाऊं के कई हिस्सों में आपदा के बाद वे रेस्क्यू आपरेशन

हरिद्वारः हरकी पैड़ी पर कोविड प्रोटोकाल की हो रही अनदेखी,अस्थि विसर्जन के लिए उमड़ रही भीड़

  


 हरिद्वार/ कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए 10 मई तक कोविड कर्फ्यू लागू है। पुलिस.प्रशासन शहर में बेवजह घूमने वालों और चोरी छिपे दुकानें खोलकर सामान बेचने वालों का चालान कर रहा है लेकिन हरकी पैड़ी क्षेत्र में कोविड प्रोटोकाल की धज्जियां उड़ रही है। हर की पैड़ी क्षेत्र एवं उसके आसपास के घाटों पर अस्थि विसर्जन करने वालों की भीड़ उमड़ रही है। उत्तराखंड ही नहीं कई राज्यों से लोग अपनों की अस्थियां लेकर हरिद्वार पहुंच रहे हैं। इनमें कई लोग शारीरिक दूरी का पालन तो दूर मास्क तक नहीं पहन रहे हैं। महाकुंभ के बाद से हरिद्वार में कोविड ने रफ्तार पकड़ी है। 26 अप्रैल से चरणबद्ध तरीके से कोविड कर्फ्यू लागू है। अब दस मई तक पूरे जिले में कर्फ्यू लागू है। पुलिस.प्रशासन कर्फ्यू का पालन भी करवा रहा है, लेकिन हरकी पैड़ी क्षेत्र में कोविड प्रोटोकाल की अनदेखी हो रही है। घाटों पर पुलिस भी नजर नहीं आ रही है। कोविड की दहशत से भले ही श्रद्धालु स्नान के लिए नहीं आ रहे हैं लेकिन अस्थि विसर्जन करने वालों की भीड़ उमड़ रही है। इनमें नॉन कोविड और कोविड से दम तोड़ने वालों की अस्थियां शामिल हैं।अस्थि विसर्जन पर रोक नहीं है लेकिन कोविड प्रोटोकाल का पालन करना सभी के लिए अनिवार्य है। शुक्रवार को हरकी पैड़ी क्षेत्र में कर्मकांड और स्नान करने वालों की काफी भीड़ रही। लोगों ने कर्मकांड कर अपनों की अस्थियां प्रवाह कर गंगा में डुबकी लगाई। इस दौरान शारीरिक दूरी का पालन और मास्क पहनने की किसी में चिंता नहीं दिखी। कई लोग तो खांसते और छींकते भी नजर आए। इससे संक्रमण का प्रसार तेज होने का खतरा है।वहीं, हरिद्वार में कुछ दिनों की राहत के बाद शुक्रवार को कोरोना संक्रमितों की संख्या अचानक फिर बढ़ गई। जिले में 927 नए कोरोना मरीज मिले हैं। हालांकि मौत का आंकड़ा गिरकर छह पर आने से थोड़ी राहत जरूर मिली है।पिछले चार दिनों से जनपद में कोरोना मरीजों की संख्या औसतन प्रतिदिन 600 के आसपास रही। शुक्रवार को जिले में 927 संक्रमिल मिले हैं। वहीं बाबा बर्फानी में तीन, रामकृष्ण मिशन अस्पताल में एक, भेल अस्पताल में एक और मिलिट्री अस्पताल रुड़की में एक मरीज की इलाज के दौरान मौत हो गई।सीएमओ डॉ. एस.के. झा ने बताया कि सर्वाधिक 38 मरीज शिवालिकनगर में मिले। भेल में 32, कनखल में 29, ज्वालापुर में 29, जगजीतपुर में 13 और मानकपुर आदमपुर गांव में 10 मरीज मिले हैं। जनपद के अधिकृत अस्पतालों में 231 व्यक्ति भर्ती हैं अधिकृत कोविड स्वास्थ्य केंद्रों में 464 मरीज भर्ती हैं।कोविड केयर सेंटरों में 146 मरीज हैं। डॉ. झा ने बताया कि जनपद में फिलहाल 36,06 एक्टिव केस हैं। शुक्रवार को कुल 66 लोग स्वस्थ हुए हैं जबकि 7,281 व्यक्तियों के सैंपल जांच के लिए लिए गए हैं। 56,909 व्यक्तियों की सैंपल रिपोर्ट आनी बाकी है।














टिप्पणियाँ

Popular Post