सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव.संग्राम 2022: भाजपा.और आप के बीच में छिड़ा स्टार वार,कांग्रेस कर रही इंतजार

      भाजपा व आप ने रणनीति के तहत स्टार वार का गेम शुरू किया है। दरअसल, आचार संहिता लागू होने पर वीवीआईपी की रैलियां कराने के लिए पूरा खर्चा प्रत्याशियों के खाते में शामिल होता है।  उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव से पहले स्टार वार शुरू हो चुका है। भाजपा और आम आदमी पार्टी अभी इसमें आगे चल रही है, जबकि कांग्रेस अभी इंतजार के मूड में है।   निर्वाचन आयोग की टीमों की इस पर पैनी नजर रहती हैं।  निर्धारित सीमा से ज्यादा खर्च होने की दशा में ऐसे प्रत्याशियों को आयोग के नोटिस झेलने पड़ते हैं और चुनाव के वक्त इनका जवाब देने में उनका समय अनावश्यक जाया होता है। भाजपा में सबसे ज्यादा डिमांड प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की है। वे दो माह के भीतर उत्तराखंड के दो दौरे कर चुके हैं। पहले वे सात अक्तूबर को ऋषिकेश एम्स में आक्सीजन प्लांट जनता को समर्पित करने आए और इसके बाद पांच नवंबर को केदारनाथ धाम के दर्शन को पहुंचे। अब मोदी चार दिसंबर को दून में चुनाव रैली संबोधित करने आ रहे हैं। उधर, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी इस बीच दो दौरे कर चुके हैं। अक्तूबर में कुमाऊं के कई हिस्सों में आपदा के बाद वे रेस्क्यू आपरेशन

नहीं थम रहा कोरोना से हुई मौतों का सिलसिला

  

 



 
देहरादून /
रायपुर स्थित कोविड शमशान घाट पर रविवार को 53 कोविड शवों का अंतिम संस्कार किया गया। श्मशान घाट के बाहर वाहनों व परिजनों की मौजूदगी के मद्देनजर मालदेवता चौकी पुलिस को तैनात किया गया है। रायपुर घाट पर कोविड शवों के आने का सिलसिला सुबह से शुरू हो जा रहा है और दोपहर बाद तक जारी रह रहा है। मालदेवता चौकी प्रभारी दीपक पंवार ने बताया कि लोगों से घाट के बाहर भी सावधानी बरतने, व सोशल डिस्टेंस का पालन करने, पीपीई किट को सही जगह पर निस्तारित करने को कहा जा रहा है। घाट के बाहर वाहनों की भीड़ के चलते पुलिस को व्यवस्था बनानी पड़ी। वहीं शहर के अन्य सामान्य श्मशान घाटों पर रविवार को 50 शवों का अंतिम संस्कार हुआ। लक्खीबाग में सर्वाधिक 20, नालापानी में 12, प्रेमनगर में 9, चंद्रबनी में 7 व टपकेश्वर में 5 शवों का अंतिम संस्कार किया गया। प्रेमनगर में तीन शवों को देर शाम अंधेरा होने के चलते सोमवार को लाने को कहा गया। प्रेमनगर घाट के प्रभारी फकीरचंद ने बताया कि घाट से ऐसे शवों के लिए तीन डीप फ्रीजर भेजे गए। जिनमें से दो बसंत विहार व एक प्रेमनगर में भेजा गया।

 

तीन शवों को चंद्रबनी से वापस भेजा

 
देहरादून /  चंद्रबनी श्मशान घाट से तीन कोरोना शवों को वहां की समिति के पदाधिकारियों ने वापस भेज दिया। एक के बाद एक तीन शवों के आने से आसपास के लोग घबरा गए और उन्होंने व्यवस्थापकों से हस्तक्षेप करने को कहा। चंद्रबनी लोक हित सेवा समिति सचिव शिवलाल सरोहा ने बताया कि तीनों शवों को घाट में प्रवेश करने से पहले ही रोक दिया और उन्हें रायपुर कोविड घाट पर जाने की सलाह दी गई। शव के साथ आए लोग पीपीई किट में थे।  


Sources:Hindustan samachar

टिप्पणियाँ

Popular Post