सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

नए वेरिएंट फैलने की आशंका : आश्रमों और गेस्ट हाउस में भी देना होगा अब कोरोना जांच का प्रमाणपत्र

  मथुरा / उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद में वृन्दावन शहर में दस विदेशी एवं एक देशी नागरिक के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने सभी गेस्ट हाउसों एवं आश्रमों को कहा है कि वे अपने आने वाले हर देशी-विदेशी मेहमान का पूरा ब्योरा रखें और उनके पास कोरोना जांच का नेगेटिव प्रमाण पत्र होने के बाद ही उन्हें अपने यहां ठहराएं। गौरतलब है कि लंबे समय तक कोरोना वायरस का मामला नहीं आने के बाद बरती गई लापरवाही के बाद अब फिर से कोरोना संक्रमितों के मिलने का सिलसिला चल पड़ा है। वृन्दावन में पिछले सप्ताह से अब तक दस विदेशी एवं एक उड़ीसा की भारतीय नागरिक संक्रमित पाई जा चुकी है। तीन विदेशी जिला स्तर पर कोई सूचना दिए बिना यहां से लौट भी चुके हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. रचना गुप्ता ने कहा है कि गेस्ट हाउस एवं आश्रम बाहर से आने वाले व्यक्तियों के रुकने से पूर्व उनके कोविड वैक्सीनेशन प्रमाणपत्र एवं कोविड-19 जांच रिपोर्ट प्राप्त कर ही उन्हें ठहराएं तथा ऐसा नहीं होने पर वे तत्काल स्वास्थ्य विभाग के नियंत्रण कक्ष को रिपोर्ट करें। उनके अनुसार नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। न

उत्तराखंड: कोरोना किट को लेकर क्यों झूठ बोल रहा स्वास्थ्य विभाग,नहीं मिल रही तीन-तीन दिनों तक दवा

   


  मरीजों को दवा की किट देने में नाकाम स्वास्थ्य विभाग झूठ बोलकर अपनी नाकामी छिपा रहा है। यहां तक की राजधानी देहरादून में कोरोना मरीजों के लिए समर्पित राजकीय दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भी जांच के दौरान कोरोना दवा की किट नहीं मिल रही है।उत्तराखंड में कोरोना: केंद्र ने संक्रमण रोकने के लिए अब भाजपा विधायकों को मोर्चे पर उतारा, करने होंगे ये सात काम राज्य सरकार ने निर्देश दिए हैं कि कोरोना जांच का सैंपल देते वक्त मरीज को कोरोना की शुरुआती दवा की किट देना भी अनिवार्य है। ताकि बीमारी बढ़ने से पहले ही मरीजों को दवा देकर जोखिम से बाहर निकाला जा सके। जिले का स्वास्थ्य विभाग भी ऐसे दावे कर रहा है, लेकिन राजधानी के सरकारी अस्पतालों में ही उसकी धज्जियां उड़ रही हैं।जांच के वक्त तो तीन-चार दिन बाद तक भी मरीजों को कोरोना किट नहीं मिल रही है। जिससे मरीजों की जान से खिलवाड़ हो रहा है। जब राजधानी के अस्पतालों के हाल यह है तो प्रदेश के पर्वतीय और दूरस्थ जिलों की स्थिति का अंदाजा सहज ही लगाया जा सकता है।राजकीय दून मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. आशुतोष सयाना ने बताया कि मरीजों को जरूरत के हिसाब से डॉक्टर की सलाह पर कोरोना की दवाई दी जा रही है। होम आइसोलेशन की किट मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय की ओर से भेजे जाने की व्यवस्था है। सरकार की गाइडलाइन और दिशा निर्देशों का पालन सुनिश्चित कराया जाएगा।मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अनूप कुमार डिमरी ने बताया कि दवाएं न दिए जाने और घर पर देरी से दवा पहुंचने की समस्या को दिखा रहे हैं। यह सुनिश्चित कराया जाएगा कि मरीजों को समय पर कोरोना दवा की किट मिल सके।कोरोना के नए केस घटे, मौतों की संख्या पहुंची 180 पर
कई दिनों के बाद उत्तराखंड में कोरोना के नए मामलों में रविवार को गिरावट दर्ज की गई, लेकिन मौतों की संख्या 180 पर पहुंच गई। रविवार को उत्तराखंड में कोरोना के 5890 नए मामले सामने आए। वहीं, 2731 मरीजों ने कोरोना से जंग जीत ली।स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के मुताबिक, रविवार को प्रदेश में 5890 नए कोरोना केस के साथ ही अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव की संख्या दो लाख 44 हजार 273 पर पहुंच गई।  इनमें से एक लाख 61 हजार 634 मरीज ठीक हो चुके हैं। प्रदेश में रविवार को 180 मरीजों की मौत के साथ ही कोरोना से मरने वालों की संख्या भी 3728 पर पहुंच गई।पिछले 24 घंटे में प्रदेश के अल्मोड़ा में 80, बागेश्वर में पांच, चमोली में 229, चंपावत में 73, देहरादून में 2419, हरिद्वार में 733, नैनीताल में 232, पौड़ी गढ़वाल में 272, पिथौरागढ़ में 215, रुद्रप्रयाग में 73, टिहरी गढ़वाल में 415, ऊधमसिंह नगर में 919 और उत्तरकाशी में 225 मामले सामने आए।वहीं, रविवार को अल्मोड़ा में एक, बागेश्वर में 15, चंपावत में एक, देहरादून में 86, हरिद्वार में दस, नैनीताल में 28, पौड़ी में 12, टिहरी में पांच, ऊधमसिंह नगर में 20 और उत्तरकाशी में एक मरीज की मौत हुई। प्रदेश में वर्तमान में कोरोना के कुल एक्टिव केस की संख्या 74114 पर पहुंच गई है।देहरादून में 78, हरिद्वार में 16, नैनीताल में 67, पौड़ी में 17, उत्तरकाशी में 82, ऊधमसिंह नगर में 61, चंपावत में 32, चमोली में सात, टिहरी में 16, रुद्रप्रयाग में छह, पिथौरागढ़ में नौ, अल्मोड़ा में 10 और बागेश्वर में दो मिलाकर प्रदेश में कुल 403 कंटेनमेंट जोन बन गए हैं।

Sources:AmarUjala


 



टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव