सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

दिसंबर में उत्तराखंड आ सकते हैं राहुल गांधी,मोदी के दौरे पर होगा जबावी हमला

    देहरादून /  भाजपा द्वारा चुनावी तैयारियों को गति देने और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दौरे के जवाब में कांग्रेस भी उत्तराखंड में राहुल गांधी का दौरा कराने की तैयारी में है। माना जा रहा है कि दिसंबर में कुमाऊं अथवा गढ़वाल मंडल में राहुल गांधी का दौरा कराया जाएगा। वहीं, चुनावी रणनीति पर चर्चा करने के लिए प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल रविवार को दिल्ली पहुंचे और प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव से मुलाकात की। वह सोमवार को अन्य केंद्रीय पदाधिकारियों से भी मुलाकात करेंगे। आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए कांग्रेस भी चुनाव की तैयारियों में जुटी हुई है। इस समय कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रदेश भर में गांव-गांव कांग्रेस अभियान चला रहे हैं। इसके तहत विभिन्न इलाकों में रात्रि विश्राम और जनसभाओं का दौर चल रहा है। वहीं, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दौरे के जवाब में कांग्रेस भी वरिष्ठ पार्टी नेताओं का प्रदेश में दौरा कराने की तैयारी कर रही है। इस कड़ी में दिसंबर माह में वरिष्ठ नेता राहुल गांधी की सभा कराने के लिए केंद्रीय नेतृत्व से वार्ता चल रही है। माना जा रहा है कि प्रदेश अध्यक्ष अपने दिल्ली दौरे क

दक्षिण भारत में भयानक चक्रवाती तूफान की चेतावनी,16 मई को अलर्ट

  


 

पूर्व-मध्य अरब सागर में आने वाले दिनों में एक चक्रवाती तूफान के आने की संभावना है। यदि इस तरह का चक्रवाती तूफान वास्तव में आकार लेता है, तो यह 2021 का पहला चक्रवाती तूफान होगा और इसका नाम म्यांमार द्वारा टुकटै दिया जाएगा। भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने भविष्यवाणी की है कि भारत के पश्चिमी तट पर 16 मई तक चक्रवाती तूफान आने की संभावना है। वास्तव में लक्षद्वीप के निचले इलाकों में 15-16 मई तक बाढ़ आ सकती है। आईएमडी के अनुसार, 14 मई के आसपास दक्षिण-पूर्व अरब सागर में एक कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है। 14 मई तक लक्षद्वीप क्षेत्र से सटे दक्षिण-पूर्व अरब सागर में उत्तर और उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने की संभावना है साथ ही यह और तेज होने की संभावना है। 16 मई के आसपास पूर्वी-मध्य अरब सागर में एक चक्रवाती तूफान में टकरा सकता है। यह तूफान उत्तर-पश्चिम की ओर आगे बढ़ने बढ़ रहा है। इस तुफान से लक्षद्वीप, केरल, कर्नाटक, गोवा और महाराष्ट्र के तट प्रभावित होने की संभावना है।रिपोर्ट्स की मानें तो तूफान के कच्छ और दक्षिण पाकिस्तान की ओर बढ़ने की संभावना है। अगर ऐसा होता है, तो तटीय गुजरात 17 या 18 मई को चक्रवात की चपेट में आ जाएगा। आईएमडी ने कहा है कि पूरे पाठ्यक्रम और संभावित गठन पर एक या दो दिन में इसकी बेहतर तस्वीर सामने होगी।


Source:Prabhashakshi

टिप्पणियाँ

Popular Post