कोरोनाकाल-वापस नहीं लौटे पेरोल पर छूटे 35 बंदी,तलाश में छापेमारी

  


 देहरादून/ पिछले साल कोरोनाकाल में पेरोल पर छूटे 35 बंदी पुलिस की पकड़ से दूर हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए ये बंदी छह महीने की अंतरिम जमानत पर रिहा हुए थेए लेकिन एक साल बाद भी वापस सुद्धोवाला जेल नहीं पहुंचे। दून पुलिस भी लगातार बंदियों की तलाश में छापेमारी कर रही है। मार्च 2020 में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए कोर्ट के आदेश पर मारपीटए चोरी आदि अपराधों में गिरफ्तार बंदियों को छह महीने की अंतरिम जमानत पर रिहा किया गया था। यह बंदी 31 मार्च 2020 को जेल से छूटे थेए जिन्हें एक अक्तूबर को वापस जेल में आना था।निर्धारित अवधि पूरी करने के बाद भी बंदी वापस सुद्धोवाला जेल नहीं पहुंचे। इस पर जेल अधीक्षक ने 11 दिसंबर को एसएसपी दून को पत्र लिखकर बंदियों की सूची मुहैया कराई थी। देहरादून पुलिस ने आरोपियों की तलाश में घर समेत अन्य छिपने वाले ठिकानों पर छापेमारी कीए लेकिन पुलिस को खास सफलता नहीं मिल सकी है। देहरादून के एसएसपी डॉण् योगेंद्र सिंह रावत ने समस्त थाना पुलिस को पेरोल पर छूटे बंदियों को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए हैं।