13 मार्च से रहेगी राजभवन में वसंतोत्सव की धूम

  

 राजभवन में 13 मार्च से दो दिवसीय वसंतोत्सव का भव्य आयोजन होगा। राज्यपाल बेबीरानी मौर्य ने सभी प्रदेशवासियों को वसंतोत्सव में शरीक होने का न्यौता दिया है। गुरुवार को राजभवन में मीडिया से बातचीत में राज्यपाल ने वसंतोत्सव के आयोजन की विस्तार से जानकारी दी। इस साल से राजभवन एक नई पहल भी करने जा रहा है। वसंतोत्सव की पुष्प प्रदर्शनी के साथ ही अगस्त-सितंबर में सेब और लीची उत्सव भी मनाएगा। राज्यपाल ने कहा कि राज्य पुष्प उत्पादन में तो अग्रणी है ही, राज्य के फलों का भी कोई सानी नहीं। फल उत्पादन को प्रोत्साहित और प्रचारित करने के लिए राजभवन में फल उत्सव करने का निर्णय किया गया है। उन्होंने कहा कि वसंतोत्सव का औपचारिक उद्घाटन तो 13 मार्च को होगा, लेकिन दिव्यांग और वंचित वर्ग के बच्चों के लिए कल शुक्रवार को विशेष रूप से आयोजन किया जाएगा। इस दौरान कई प्रतियोगिताएं और सांस्क़तिक कार्यक्रम भी आयोजित होंगे। राज्य के लोग वसंतोत्सव के दौरान वृंदावन की फूलों की होली और मयूर नृत्य का आनंद भी ले सकेंगे। मौन पालन को बढावा देने के लिए डाक विभाग मधुमक्खी पर विशेष टिकट भी जारी करेगा। उद्यान निदेशक डॉ. एचएस वावेजा ने वसंतोत्सव की प्रतियोगिताओं की जानकारी दी। इस मौके पर अपर सचिव-राज्यपाल जितेंद्र कुमार सोनकर, उपनिदेशक-सूचना नितिन उपाध्याय आदि भी मौजूद रहे।

कोविड़ 19 सुरक्षा मानक सख्ती से होंगे लागू: चुघ
कृषि एवं उद्यान सचिव हरबंस चुघ ने कहा कि बीते साल कोरोना की वजह से राजभवन में वसंतोत्सव का आयेाजन नहीं हो पाया था। इस साल आयोजन किया जा रहा है, लेकिन कोविड़ 19 सुरक्षा के मानक सख्ती से लागू होंगे। सभी लोगों को मास्क पहनकर आना अनिवार्य होगा। यदि किसी के पास मास्क न होगा तो वसंतोत्सव के दौरान उसे उपलब्ध कराने का प्रयास किया जाएगा। परिसर में परिसर में सेनेटाइजर की व्यवस्था रहेगी।


Sources:Agency News