सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

लखीमपुर खीरी हिंसा: जांच कर रही एस.आई.टी ने चश्मदीद गवाहों से साक्ष्य देने के लिए निकाला विज्ञापन

    लखनऊ  /   लखीमपुर हिंसा कांड में उत्तर प्रदेश सरकार को सुप्रीम कोर्ट द्वारा सभी गवाहों को सुरक्षा देने के निर्देश के बाद विशेष अनुसंधान दल (एसआइटी) ने जांच की गति और तेज कर दी है। एसआइटी ने चश्मदीद गवाहों से साक्ष्य देने का अनुरोध करते हुए विज्ञापन निकाला है। विज्ञापन में एसआइटी अपने सदस्यों के संपर्क नंबर जारी किया है। प्रत्यक्षदर्शियों से आगे आकर अपने बयान दर्ज कराने और डिजिटल साक्ष्य प्रदान करने के लिए उनसे संपर्क करने का आग्रह करती किया है। एसआइटी का कहना है कि ऐसे लोगों की जानकारी गोपनीय रखी जाएगी और उन्हें पुलिस सुरक्षा दी जाएगी। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश सरकार को आदेश दिया है कि लखीमपुर खीरी हिंसा मामले के सभी गवाहों को गवाह सुरक्षा योजना, 2018 के मुताबिक पुलिस सुरक्षा दी जाए। साथ ही कोर्ट ने अन्य महत्वपूर्ण गवाहों के बयान भी सीआरसीपी की धारा-164 के तहत मजिस्ट्रेट के समक्ष जल्द दर्ज कराने का निर्देश देते हुए कहा कि अगर बयान दर्ज करने के लिए मजिस्ट्रेट उपलब्ध नहीं हैं तो जिला जज नजदीक के मजिस्ट्रेट से बयान दर्ज कराएंगे। इसके अलावा कोर्ट ने हिंसा म

ममता के घर में गरजे शाह: भाजपा की लड़ाई बंगाल को सोनार बांग्ला बनाने की है

कोलकाता के पड़ोसी दक्षिण 24 परगना जिले में आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह परिवर्तन यात्रा के तहत एक सभा को संबोधित किया। अपनी सभा में अमित शाह ने तृणमूल कांग्रेस और ममता बनर्जी पर जमकर निशाना साधा। अमित शाह ने कहा कि आज परिवर्तन यात्रा का पांचवा चरण शुरू हो रहा है। ये यात्रा बंगाल के हर विधानसभा क्षेत्र से गुजरने वाली हैं। 294 विधानसभा क्षेत्रों से ये परिवर्तन रथ गुजरने वाला है। ये परिवर्तन यात्रा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का संदेश लेकर आ रही है। परिवर्तन का मतलब बताते हुए अमित शाह ने कहा कि यह परिवर्तन मछुआरे भाइयों को नाव चलाने के लिए किसी को रिश्वत न देनी पड़े, यह परिवर्तन आदिवासियों को रहने के लिए कट मनी न देनी पड़े, इसलिए है। परिवर्तन किसी को सत्ता से हटाने के लिए नहीं है। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक आपदा के समय आपका अधिकार कोई और न ले जाए, इसे परिवर्तन कहते हैं। किसानों की फसल का सही दाम किसानों को मिले, बिचौलियों को न मिले, इसे परिवर्तन कहते हैं। शाह ने ऐलान करते हुए कहा कि आप एक बार बंगाल में भाजपा की सरकार बना दीजिए, बंगाल के सभी सरकारी कर्मचारियों को सातवें वेतनमान का लाभ दिया जाएगा। शिक्षक भाइयों को उचित मानदंड मिले, इसके लिए एक कमेटी का गठन भाजपा सरकार करेगी। दक्षिण 24 परगना में गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि भाजपा की लड़ाई बंगाल को सोनार बांग्ला बनाने की लड़ाई है और ये हमारे बूथ के कार्यकर्ता और तृणमूल कांग्रेस के सिं​डिकेट के बीच की लड़ाई है। ये सिंडिकेट वाले आप तक आपका फायदा नहीं पहुंचने देते हैं। उन्होंने कहा कि गंगासागर को हम अंतरराष्ट्रीय पर्यटन सांस्कृतिक क्षेत्र के रूप में विकसित करने जा रहे हैं। गंगासागर को केंद्र सरकार की प्रसाद योजना के तहत भी लाएंगे। उत्तरायण के दिन यहां जो मेला लगता है, उसे हम अंतरराष्ट्रीय स्तर के मेले का दर्जा देंगे।अभिषेक बनर्जी पर निशाना साधते हुए शाह ने कहा कि टीएमसी का एक ही नारा है, भतीजा बढ़ावा। भतीजे के कल्याण के अलावा टीएमसी के मन में कोई अभिलाषा नहीं है। नरेन्द्र मोदी जी का नारा है, सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास। बंगाल में जो राजनीतिक हिंसा होती है, उसमें 130 भाजपा कार्यकर्ता मारे गए। ममता दीदी सोचती हैं कि किसी को मार देने से भाजपा रूक जाएगी। मैं उनसे कहना चाहता हूं कि ममता दीदी तृणमूल के गुंडो ने हमारे 130 कार्यकर्ताओं को मारा है, उनकी शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी। बंगाल की धरती पर ताकत के साथ कमल खिलने वाला है। Sources:Agency News

टिप्पणियाँ

Popular Post