सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

लखीमपुर खीरी हिंसा: जांच कर रही एस.आई.टी ने चश्मदीद गवाहों से साक्ष्य देने के लिए निकाला विज्ञापन

    लखनऊ  /   लखीमपुर हिंसा कांड में उत्तर प्रदेश सरकार को सुप्रीम कोर्ट द्वारा सभी गवाहों को सुरक्षा देने के निर्देश के बाद विशेष अनुसंधान दल (एसआइटी) ने जांच की गति और तेज कर दी है। एसआइटी ने चश्मदीद गवाहों से साक्ष्य देने का अनुरोध करते हुए विज्ञापन निकाला है। विज्ञापन में एसआइटी अपने सदस्यों के संपर्क नंबर जारी किया है। प्रत्यक्षदर्शियों से आगे आकर अपने बयान दर्ज कराने और डिजिटल साक्ष्य प्रदान करने के लिए उनसे संपर्क करने का आग्रह करती किया है। एसआइटी का कहना है कि ऐसे लोगों की जानकारी गोपनीय रखी जाएगी और उन्हें पुलिस सुरक्षा दी जाएगी। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश सरकार को आदेश दिया है कि लखीमपुर खीरी हिंसा मामले के सभी गवाहों को गवाह सुरक्षा योजना, 2018 के मुताबिक पुलिस सुरक्षा दी जाए। साथ ही कोर्ट ने अन्य महत्वपूर्ण गवाहों के बयान भी सीआरसीपी की धारा-164 के तहत मजिस्ट्रेट के समक्ष जल्द दर्ज कराने का निर्देश देते हुए कहा कि अगर बयान दर्ज करने के लिए मजिस्ट्रेट उपलब्ध नहीं हैं तो जिला जज नजदीक के मजिस्ट्रेट से बयान दर्ज कराएंगे। इसके अलावा कोर्ट ने हिंसा म

चांदनी चौकः हाई कोर्ट के आदेश के बाद हटाया गया हनुमान मंदिर एक रात में फिर बना

राजधानी दिल्ली के चांदनी चौक इलाके में दिल्ली नगर निगम द्वारा हटाए गए 50 साल पुराने हनुमान मंदिर को रातो रात फिर से नया बना दिया गया। शुक्रवार सुबह मंदिर के निर्माण से जुड़ी जानकारी सामने आई। कहा जा रहा है कि स्थानीय लोगों के द्वारा रातभर में ही नया हनुमान मंदिर तैयार कर दिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार स्थानीय लोगों ने नए मंदिर को खुद चंदा इकट्ठा करके तैयार किया है। उत्तरी दिल्ली नगर निगम के स्टोर से रात को ही मूर्ति लाई गई औऱ मंदिर का निर्माण किया गया है। हाईकोर्ट के आदेश के बाद तोड़ा गया था मंदिर बता दें कि पिछले महीने 3 जनवरी को चांदनी चौक स्थित 50 वर्ष पुराने मंदिर सुबह चार बजे के करीब दिल्ली नगर निगम ने अपना बुलडोजर चला दिया था। रात के अंधेरे में इस तरह की कार्यवाही से इलाके में तनाव भी उत्पन्न हो गया था। आप और भाजपा के बीच चला था आरोप-प्रत्यारोप चांदनी चौक स्थिक हनुमान मंदिर के तोड़े जाने के बाद भाजपा और आम आदमी पार्टी के बीच आरोप-प्रत्यारोप भी देखने को मिला था। आप ने आरोप लगाया था कि भाजपा नीत एमसीडी ने 100 साल पुराना हनुमान मंदिर ढहाया है। पार्टी के वरिष्ठ नेता तथा दिल्ली नगर निगम के प्रभारी दुर्गेश पाठक ने कहा कि खुद को हिंदुओं की पार्टी कहने वाली भाजपा का वास्तविक चेहरा आज पूरे देश के सामने बेनकाब हो गया है। वहीं, भाजपा की दिल्ली इकाई ने पलटवार करते हुए मंदिर विध्वंस की निंदा करते हुए दावा किया कि चांदनी चौक में चल रही सौंदर्यीकरण योजना आप सरकार ने शुरू की है। Sources:Agency News

टिप्पणियाँ

Popular Post