सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

देहरादून: फर्जी क्राइम ब्रांच का अधिकारी और पत्रकार बता स्पा सेंटर में घुस कर बनाया वीडियो, वायरल करने की धमकी देकर मांगे डेढ़ लाख

देहरादून /  उत्तराखण्ड की राजधानी देहरादून में आये दिन कोई न कोई नई वारदात सामने आती है इनमें फर्जीवाडा, ब्लैकमेंलिंग के मामलों में तेजी के साथ इजाफा हो रहा है।  ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया है जहां खुद को साइबर ब्रांच का अधिकारी और पत्रकार बताकर दो युवक जबरन एक स्पा सेंटर में घुस गए। इसके बाद उन्होंने सेंटर का वीडियो बनाया और अब वीडियो को वायरल करने की धमकी देकर संचालिका से डेढ़ लाख रुपये की मांग कर रहे हैं। स्पा सेंटर की संचालिका के इस आरोप पर वसंत विहार थाना पुलिस ने दोनों आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। उनकी तलाश की जा रही है। वसंत विहार थाने के इंस्पेक्टर देवेंद्र चौहान के अनुसार, शिकायतकर्ता राशि निवासी मेहूंवाला ने बताया कि उनका जीएमएस रोड पर सनसाइन स्पा के नाम से स्पा सेंटर है। उनका आरोप है कि इसी 21 अक्टूबर की शाम को जावेद मलिक और वीरेंद्र नाम के दो शख्स स्पा सेंटर में आए। जावेद ने खुद को पत्रकार और विरेंद्र ने दिल्ली पुलिस की साइबर ब्रांच का अधिकारी बताया। स्पा सेंटर में घुसते ही वह गालीगलौज करने लगे और वीडियो बनाना शुरू कर दिया। इस घटना के वक्त राशि सेंटर म

कोविड नियमों का उल्‍लंघन करने पर महाराष्ट्र के डोम्बिवली में 500 लोगों पर केस दर्ज

ठाणे / महाराष्ट्र के ठाणे जिले के डोम्बिवली में जन्मदिन की पार्टी के लिए कोविड-19 के नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में पुलिस ने करीब 500 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। कल्याण डोम्बिवली नगर निगम (केडीएमसी) ने एक बयान में बृहस्पतिवार को बताया कि देसलेपाडा में 17 और 18 फरवरी की दरम्यानी रात जन्मदिन की पार्टी का आयोजन हुआ था। केडीएमसी के वार्ड अधिकारी अक्षय गडगे को शिकायत मिली थी कि एक स्थानीय निवासी का जन्मदिन मनाने के लिए बड़ी संख्या में लोग इकट्ठा हुए थे और इस दौरान मास्क पहनने, उचित दूरी बनाए रखने जैसे नियमों का पालन नहीं किया गया। बयान के मुताबिक, सूचना मिलने के बाद निगम के अधिकारियों ने परिसर का दौरा किया और पार्टी का आयोजन करने वालों और इसमें शामिल होने वालों समेत करीब 500 लोगों के खिलाफ मनपाडा थाने में शिकायत दी। पुलिस ने आईपीसी की धारा 269 और 270 (संक्रामक बीमारी फैलाने के लिए लापरवाह कृत्य), 188 (लोक सेवक के आदेश का उल्लंघन) तथा आपदा प्रबंधन नियंत्रण नियमों की धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की। मामले में फिलहाल किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है। Sources:Agency News

टिप्पणियाँ

Popular Post