बीमार लालू यादव की रिहाई की मांग, बेटे तेज प्रताप ने जारी किया 'आजादी पत्र'

  

बिगड़ते स्वास्थ्य की वजह से लालू प्रसाद यादव को रांची के रिम्स से दिल्ली के एम्स में स्थानांतरित किया गया। कहा जा रहा है कि लालू यादव के खून में शुगर का लेवल बढ़ गया है और न्यूमोनिया भी हो गया है। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री को बीमारी की हालत में भी जेल से रिहा नहीं किए जाने को लेकर सोशल मीडिया पर राजद नेता और कार्यकर्ताओं की ओर से आवाज उठाया जा रहा है। लालू के लाल तेज प्रताप यादव ने राष्ट्रपति को पोस्टकार्ड लिखने का अभियान चलाया है, जिसे आजादी पत्र का नाम दिया गया है।  वहीं लालू की पुत्री रोहिणी ने भी राष्ट्रपति को पत्र लिखकर लालू की रिहाई की मांग की है। बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव ने ट्विटर पर इससे संबंधित तस्वीरें पोस्ट करते हुए लिखा कि समानता की लड़ाई को जीतकर “लड़ाका लालू” कहलाने वाले उस विचारधारा की आज़ादी के लिए पत्र लिखकर आज़ादीपत्र मुहीम का शुरुआत किया। आप सभी को मुहीम का हिस्सा बनने के लिए आमंत्रित करता हूँ।