दहगवां में पंचायत चुनाव के लिए कराया जाएगा परिसीमन



त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए परिसीमन शुरू किया जा रहा है। जिले में दहगवां नई नगर पंचायत बनी है। इसलिए पंचायती राज विभाग क्षेत्र पंचायत और जिला पंचायत सदस्य क्षेत्र का भी परिसीमन कराएगा। प्रमुख सचिव पंचायती राज ने विस्तृत कार्यक्रम के साथ निर्देश जारी किए हैं। लेकिन अभी यहां परिसीमन की गतिविधि शुरू नहीं हो सकी है।




 बदायूं / त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए परिसीमन शुरू किया जा रहा है। जिले में दहगवां नई नगर पंचायत बनी है। इसलिए पंचायती राज विभाग क्षेत्र पंचायत और जिला पंचायत सदस्य क्षेत्र का भी परिसीमन कराएगा। प्रमुख सचिव पंचायती राज ने विस्तृत कार्यक्रम के साथ निर्देश जारी किए हैं। लेकिन, अभी यहां परिसीमन की गतिविधि शुरू नहीं हो सकी है।


पंचायत चुनाव नवंबर माह में ही प्रस्तावित थे। लेकिन, कोरोना महामारी के चलते चुनाव आयोग ने आगे बढ़ा दिया है। पुनरीक्षण अभियान पहले से चल रहा है, अब परिसीमन के भी दिशा निर्देश जारी हो गए हैं। जिलाधिकारी की अध्यक्षता में कमेटी गठित की जाएगी। इसमें मुख्य विकास अधिकारी, अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत सदस्य होंगे। जिला पंचायत राज अधिकारी को सदस्य सचिव नामित किया है। चार दिसंबर से परिसीमन प्रक्रिया शुरू कर छह जनवरी तक पूरी करनी है। नई नगर पंचायत दहगवां बनने से एक ग्राम पंचायत खत्म हो रही है। वहीं, इससे चार क्षेत्र पंचायत सदस्य एवं एक जिला पंचायत सदस्य क्षेत्र भी प्रभावित हुआ है। परिसीमन में वर्ष 2011 की जनगणना को आधार बनाया जाएगा।










 

नगर पालिका परिषद बदायूं का भी होगा सीमा विस्तार


अभी पंचायत चुनाव के लिए परिसीमन कराया जा रहा है, लेकिन निकट भविष्य में नगर पालिका परिषद बदायूं में भी परिसीमन होगा। नगर पालिका बोर्ड ने सीमा विस्तार को प्रस्ताव पास कर शासन को भेजा है। प्रोफेसर कॉलोनी, आवास विकास, श्रीरामनगर कॉलोनी जैसे पॉश इलाकों के साथ शहर से सटे गांवों को पालिका में शामिल कराने का प्रस्ताव दिया है। चेयरमैन दीपमाला गोयल और नगर विकास राज्यमंत्री महेश चंद्र गुप्ता भी पैरवी कर रहे हैं, इसलिए जल्द ही सीमा विस्तार हो जाने की उम्मीद है।


वर्जन ::


त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए जिले में भी आंशिक परिसीमन कराया जाना है। प्रमुख सचिव पंचायती राज का दिशा निर्देश प्राप्त हो गया है। दहगवां नई नगर पंचायत बनने की वजह से ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत और जिला पंचायत क्षेत्र का भी निर्धारण किया जाएगा।


- डा.सरनजीत कौर, जिला पंचायत राज अधिकारी


 


Sources:जेएनएन