सुरक्षा बलों ने नाकाम की नक्सलियों की नापाक साजिश,50 किलोग्राम अमोनियम नाइट्रेट बरामद


छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित राजनांदगांव जिले में सुरक्षा बलों ने 50 किलोग्राम अमोनियम नाइट्रेट बरामद किया है। अमोनियम नाइट्रेट का इस्तेमाल नक्सली बारूदी सुरंग बनाने में करते हैं।



 


राजनांदगांव /छत्तीसगढ़ / छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित राजनांदगांव जिले में सुरक्षा बलों ने 50 किलोग्राम अमोनियम नाइट्रेट बरामद किया है। अमोनियम नाइट्रेट का इस्तेमाल नक्सली बारूदी सुरंग बनाने में करते हैं। राजनांदगांव जिले के पुलिस अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि आत्मसमर्पण कर चुके एक नक्सली से मिली जानकारी के बाद सुरक्षा बलों ने जिले के औंधी थाना क्षेत्र के अंतर्गत मेटातोडके गांव के निकट एक जंगल से भारी मात्रा में विस्फोटक सामग्री बरामद की। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि नक्सली से मिली जानकारी के बाद औंधी क्षेत्र में डीआरजी और जिला बल के संयुक्त दल को गश्त के लिए रवाना किया गया था।



 


बाद में दल ने मेटातोडके गांव के जंगल में प्लास्टिक के एक ड्रम से 50 किलोग्राम अमोनियम नाइट्रेट बरामद की। ड्रम को जमीन में गढ़ाकर रखा गया था। उन्होंने बताया कि अमोनियम नाइट्रेट को नक्सलियों ने पुलिस दल को नुकसान पहुंचाने के लिए रखा था, लेकिन सुरक्षा बलों की सुझबूझ और सतर्कता के कारण नक्सलियों के मंसूबों को विफल करने में सफलता मिली है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि अमोनियम नाइट्रेट को सुरक्षा कारणों को ध्यान में रखते हुए नष्ट कर दिया गया है।


उन्होंने बताया कि एक अन्य घटना में जिले के गातापार थाना क्षेत्र के अंतर्गत कोहाबाहरा गांव के निकट एक जंगल से भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल, छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल और जिला बल के संयुक्त दल ने हथियार बरामद किए। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि गातापार थाना क्षेत्र में सुरक्षा बलों को गश्त के लिए रवाना किया गया था। दल ने कौहाबाहरा गांव के जंगल में प्लास्टिक के एक ड्रम से हथियार, तार, बैटरी और अन्य सामान बरामद किया है। उन्होंने बताया कि क्षेत्र में नक्सलियों के खिलाफ अभियान जारी है।


 


Sources:Agency News