सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

पूर्व मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद सिंह रावत नहीं लड़ेंगे चुनाव

 देहरादून : बहुत बड़ी खबर निकल कर सामने आ रही है कि उत्‍तराखंड के पूर्व मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत इस बार विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। जानकारी के मुताबिक उन्‍होंने भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा को पत्र लिखकर यह इच्‍छा जाहिर की है। उन्‍होंने कहा कि धामी के नेतृत्‍व में भाजपा की सरकार बनाने के लिए काम करना चाहता हूं।  जेपी नडडा को लिखे पत्र में उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री के रूप में कार्य करने का अवसर देने के लिए आभार भी व्‍य‍क्‍त किया है। साथ ही ये भी कहा है कि प्रदेश में युवा नेतृत्‍व वाली सरकार अच्‍छा काम कर रही है। उन्‍होंने कहा, बदली हुई राजनीतिक परिस्थितियों में मुझे चुनाव नहीं लड़ना चाहिए। इसलिए मेरा अनुरोध स्‍वीकार कर लिया जाए। आपको बता दें कि त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पत्र में लिखा कि मान्‍यवार पार्टी ने मुझे देवभूमि उत्‍तराखंड के मुख्‍यमंत्री के रूप में सेवा करने का अवसर दिया यह मेरा परम सौभाग्‍य था। मैंने भी कोशिश की कि पवित्रता के साथ राज्‍य वासियों की एकभाव से सेवा करुं व पार्टी के संतुलित विकास की अवधारणा को पुष्‍ट करूं। प्रधानमंत्री जी का भरपूर सहयोग व आशीर्वाद मु

टीम इंडिया के विकेटकीपर.बल्लेबाज ऋषभ पंत बने उत्तराखंड के ब्रांड एंबेसडर

 


 मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखंड मूल के क्रिकेटर और टीम इंडिया के विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत को उत्तराखंड का ब्रांड एंबेसडर बनाने की घोषणा की है। रविवार देर रात मुख्यमंत्री धामी ने ट्वीट कर यह जानकारी दी। उन्होंने अपनी पोस्ट में कहा कि भारत के बेहतरीन क्रिकेट खिलाडियों में से एक, युवाओं के आदर्श और उत्तराखंड के लाल ऋषभ पंत को हमारी सरकार ने राज्य के युवाओं को खेलकूद और जन- स्वास्थ्य के प्रति प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से ब्रांड एंबेसडर नियुक्त किया है।ऋषभ पंत उत्तराखंड के रुड़की जिले के रहने वाले हैं। उन्होंने अपने क्रिकेट के सफर में कई उपलब्धियां हासिल की हैं। इंडियन प्रीमियम लीग में पांचवें सबसे कम उम्र के कप्तान बनने का रिकार्ड भी उनके नाम है। तब उनकी उम्र महज 23 साल छह महीने थी। ऋषभ पंत ने अपने खेल से सभी लोगों का दिल जीत लिया। उत्तराखंड के सीएम धामी ने उन्हें राज्य का ब्रांड एंबेसडर बनाया है। सीएम धामी ने अपने ट्वीट में कहा कि वीडियो काल के माध्यम से मैंने उन्हें शुभकामनाएं दी और भेंट के लिए आमंत्रित किया है।वन एवं पर्यावरण मंत्री डा हरक सिंह रावत से रविवार को उनके आवास पर वन विभाग के पूर्व मुखिया राजीव भरतरी ने मुलाकात की। इसे लेकर इंटरनेट मीडिया पर दिनभर तरह-तरह की चर्चा चलती रही।कार्बेट टाइगर रिजर्व के अंतर्गत कालागढ़ टाइगर रिजर्व वन प्रभाग में पाखरो टाइगर सफारी के लिए स्वीकृति से अधिक पेड़ों का कटान और पाखरो से कालागढ़ तक हुए अवैध निर्माण के मामले में सरकार ने हाल में वन विभाग के मुखिया प्रमुख मुख्य वन संरक्षक राजीव भरतरी को हटा दिया था। उन्हें जैव विविधता बोर्ड का अध्यक्ष बनाया गया। भरतरी के स्थान पर आइएफएस विनोद सिंघल को विभाग का नया मुखिया बनाया गया है।इस बीच रविवार को भरतरी ने वन एवं पर्यावरण मंत्री डा हरक सिंह रावत के सरकारी आवास पर पहुुंचकर उनसे मुलाकात की। इसे लेकर इंटरनेट मीडिया में चर्चा रही कि भरतरी ने उन पर लगे आरोप के संबंध में सफाई देने के साथ ही कार्बेट प्रकरण का ब्योरा भी दिया। उधर, वन मंत्री ने मुलाकात को सामान्य करार दिया।

टिप्पणियाँ

Popular Post