सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

नए वेरिएंट फैलने की आशंका : आश्रमों और गेस्ट हाउस में भी देना होगा अब कोरोना जांच का प्रमाणपत्र

  मथुरा / उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद में वृन्दावन शहर में दस विदेशी एवं एक देशी नागरिक के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने सभी गेस्ट हाउसों एवं आश्रमों को कहा है कि वे अपने आने वाले हर देशी-विदेशी मेहमान का पूरा ब्योरा रखें और उनके पास कोरोना जांच का नेगेटिव प्रमाण पत्र होने के बाद ही उन्हें अपने यहां ठहराएं। गौरतलब है कि लंबे समय तक कोरोना वायरस का मामला नहीं आने के बाद बरती गई लापरवाही के बाद अब फिर से कोरोना संक्रमितों के मिलने का सिलसिला चल पड़ा है। वृन्दावन में पिछले सप्ताह से अब तक दस विदेशी एवं एक उड़ीसा की भारतीय नागरिक संक्रमित पाई जा चुकी है। तीन विदेशी जिला स्तर पर कोई सूचना दिए बिना यहां से लौट भी चुके हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. रचना गुप्ता ने कहा है कि गेस्ट हाउस एवं आश्रम बाहर से आने वाले व्यक्तियों के रुकने से पूर्व उनके कोविड वैक्सीनेशन प्रमाणपत्र एवं कोविड-19 जांच रिपोर्ट प्राप्त कर ही उन्हें ठहराएं तथा ऐसा नहीं होने पर वे तत्काल स्वास्थ्य विभाग के नियंत्रण कक्ष को रिपोर्ट करें। उनके अनुसार नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। न

लखीमपुर खीरी हिंसा : 40 दिन बाद एसपी विजय ढुल का तबादला,संजीव सुमन लखीमपुर खीरी के नये एसपी

 


 लखीमपुर खीरी हिंसा के करीब 40 दिन बाद गुरुवार की देर शाम लखीमपुर खीरी के पुलिस अधीक्षक (एसपी) विजय ढुल का तबादला कर दिया गया। ढुल को लखनऊ में उत्तर प्रदेश राज्य पुलिस मुख्यालय से संबद्ध कर दिया गया है और उन्हें प्रतीक्षा सूची में रखा गया है।

वहीं इसके साथ ही अपर पुलिस अधीक्षक नगर मुरादाबाद के पद पर तैनात अमित कुमार आनंद का भी तबादला किया गया है।  गृह विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि 2012 बैच के आईपीएस विजय ढुल की जगह 2014 बैच के आईपीएस अधिकारी संजीव सुमन को लखीमपुर खीरी जिले का नया एसपी बनाया गया है।

अधिकारी ने कहा कि सुमन लखनऊ पुलिस आयुक्तालय में पुलिस उपायुक्त (पूर्व) के रूप में तैनात थीं, उनकी जगह 2016 बैच के आईपीएस अधिकारी अमित कुमार आनंद को तैनात किया गया है।तीन अक्तूबर को तिकोनिया में हुए बवाल में चार किसान और एक पत्रकार समेत आठ लोगों की मौत हुई थी।

 इस मामले में किसानों की तरफ केंद्रीय गृहराज्य मंत्री के पुत्र आशीष मिश्रा समेत पन्द्रह बीस अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। मामले की जांच के लिए गठित एसआईटी ने आशीष मिश्रा, आशीष पांडेय, लवकुश राणा, शेखर भारती, अंकितदास और काले उर्फ लतीफ़, भाजपा सभासद सुमित जायसवाल, नन्दन सिंह विष्ट, सत्यम त्रिपाठी, मोहित त्रिवेदी, रिंकू राना, धर्मेंद्र बंजारा और शिशुपाल को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव